अवैध गिट्टी बालू से पुनर्वास कॉलोनी अमवार में नाली निर्माण का आरोप,जिम्मेदार मौन —

रमेश यादव ( संवाददाता )

– कनहर विस्थापितों को आवास शौचालय के लिए बालू की किल्लत और कार्यदायी संस्था के लिए सब वैध

– कनहर निर्माण कार्यदाई संस्था के मिलर से नाली निर्माण में कंक्रीट आपूर्ति करने का आरोप

– स्थानीय अधिकारियों की मौन स्वीकृति और कनहर निर्माण कम्पनी के मनमानी से पनप रहा है आक्रोश

दुद्धी।तहसील मुख्यालय के लगभग 12 किलोमीटर दूर पुनर्वास कॉलोनी अमवार में हो रहे नाली निर्माण में कनहर निर्माण कार्यदाई संस्था द्वारा अवैध रूप कंक्रीट सप्लाई किए जाने का आरोप ग्रामीणों ने लगाया है।
आरोप है कि कनहर निर्माण कम्पनी स्वयं मैटेरियल आपूर्ति करके पुनर्वास कॉलोनी में सड़क और नाली निर्माण करवा रही हैं और सुंदरी क्वारी से सोलिंग तथा अमवार स्पेलवे से मिलर हाइवा द्वारा नाली में कंक्रीट की जा रही हैं जबकि कनहर निर्माण कार्यदाई संस्था को सिर्फ स्पेलवे निर्माण में ही उक्त गिट्टी बालू और पत्थर प्रयोग करने की अनुबंध की बात बताई जा रही हैं।एक तरफ कनहर विस्थापित जहाँ पुनर्वास कॉलोनी में आवास बनाने के लिए बालू और गिट्टी उपलब्ध नहीं हो पा रही हैं वही कनहर निर्माण कार्य दाई संस्था बेखौफ पुनर्वास कॉलोनी में अवैध रूप से गिट्टी और बालू की आपूर्ति कर रहा है जो नियम विरुद्ध है।कनहर विस्थापितों का आरोप है कि हमलोगों के लिए एक ट्राली बालू या गिट्टी अवैध हो जाता है जबकि यहां कार्यदाई संस्था के लिए लगता है सब छूट है।कनहर विस्थापितों ने कहा कि पुनर्वास कॉलोनी में हो रहे सड़क एवं नाली निर्माण की जांच की जाए तो बड़े खुलासे हो सकते हैं।

इस सम्बंध कनहर सिचाई विभाग के एक्सियन सत्य प्रकाश से सेलफोन पर सम्पर्क किया गया लेकिन फोन रिसीव नही होने के कारण उनका पक्ष नही लिया जा सका।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!