जिला बाल संरक्षण समिति की बैठक सम्पन्न

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । आज विकास भवन के सभागार में जिला बाल संरक्षण समिति तथा ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ एवं महिला शक्ति केंद्र तथा बाल विवाह रोकथाम की जिला स्तरीय टास्क फोर्स की बैठक आहूत की गई। इस बैठक की अध्यक्षता जिला पंचायत अध्यक्ष अमरेश सिंह पटेल तथा सह अध्यक्षता मुख्य विकास अधिकारी राम बाबू त्रिपाठी ने किया। कार्यक्रम की रूपरेखा प्रस्तुत करते हुए जिला प्रोबेशन अधिकारी डॉ0 अमरेंद्र कुमार पौत्स्यायन ने समिति को बताया कि बच्चों के संरक्षण तथा उनके व्यक्तित्व विकास से संबंधित समस्त गतिविधियां जिला बाल संरक्षण समिति की कार्य योजना के अनुरूप संचालित की जा रही है। उक्त बैठक में बताया गया कि बाल कल्याण समिति, किशोर न्याय बोर्ड तथा बच्चों के पुनर्वासन से संबंधित समस्त कार्य किए जा रहे हैं। जनपद में इस वित्तीय वर्ष में 12 बाल विवाह रोके गए हैं, जिले में सर्वाधिक बाल विवाह म्योरपुर व दुद्घी ब्लॉक में रोकी गई है। महिला शक्ति केंद्र के तहत 8 ब्लॉक में 200-200 स्टूडेंट्स वालेन्टियर्स का चयन करते हुए उन्हें दो दिवसीय प्रशिक्षण दिया गया है और अब वे महिलाएं अपने फील्ड में ग्रामीण महिलाओं को जागरुक करने का कार्य कर रही हैं। मिशन शक्ति के तहत जनपद में 17 अक्टूबर से लगातार कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं तथा महिलाओं व बालिकाओं को सुरक्षा व स्वावलंबन की दिशा में प्रयास किए जा रहे हैं।

बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष व सदस्यों ने अवगत कराया कि बच्चों का कौशल विकास औपचारिक शिक्षा की समुचित व्यवस्था की जाए ताकि बच्चे भविष्य में अच्छे नागरिक बन सकें, समाज में उनका योगदान हो। महिला शक्ति केंद्र योजना के तहत चयनित वालंटियर ग्रामीण महिलाओं को जागरुक करने का कार्य कर रही है तथा उन्हें सरकार की योजनाओं से आच्छादित करने में अपनी भूमिका अदा कर रही हैं।

‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ योजना की गतिविधियां जनपद में सुचारू ढंग से संचालित की जा रही है तथा मिशन शक्ति के तहत इस योजना को मूर्त रूप दिया जा रहा है। बालिकाओं में सुरक्षित परिवेश का सृजन किया जा रहा है तथा उन्हें सेल्फ डिफेंस की शिक्षा प्रदान की जा रही है।

उक्त कार्यक्रम में जिला पंचायत राज अधिकारी विशाल कुमार सिंह, जिला कार्यक्रम अधिकारी अजीत सिंह, जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी राजेश कुमार खैरवार, डिप्टी सीएमओ डॉ0 एस0के0 वर्मा, सीडब्ल्यूसी के अध्यक्ष मेहताब आलम, सीओ सदर रमाकांत त्रिपाठी तथा जिला विद्यालय निरीक्षक आर0एस0 द्विवेदी, डॉ0 आर0एन0 सिंह, रिपुंजय श्रीवास्तव तथा महिला शक्ति केंद्र से महिला कल्याण अधिकारी नीतू यति सिंह, जिला समन्वयक साधना मिश्रा, सीमा द्विवेदी, जिला बाल संरक्षण इकाई से संरक्षण अधिकारी गायत्री दुबे, विधि सह परिवीक्षा अधिकारी सामाजिक कार्यकर्ता रोमी पाठक, वीणा राव, परामर्शदाता सुधीर शर्मा, आंकड़ा विश्लेषक विपिन कुमार कन्नौजिया, सह आंकड़ा प्रविष्टि प्रचालक बाबू अहमद, उधमिता मौर्य, ओआरडब्ल्यू शेषमणि दुबे, विजय कुमार, ममता फाउंडेशन के प्रत्यक्ष पांडेय, डिविजनल टेक्निकल रिसोर्स पर्सन शैलेश सिंह, बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष व सदस्य तथा किशोर न्याय बोर्ड के सदस्य शमशेर बहादुर सिंह ने प्रतिभाग करते हुए समिति को अपना बहुमूल्य सुझाव दिया।

वहीं बैठक की अध्यक्षता कर रहे जिला पंचायत अध्यक्ष अमरेश पटेल ने कहा कि बच्चों के संरक्षण के लिए मिलकर के काम करने की आवश्यकता है ताकि जनपद का प्रत्येक बच्चा इससे लाभान्वित हो तथा कोई भी बच्चा मुख्यधारा से छूट ना जाए।

मुख्य विकास अधिकारी राम बाबू त्रिपाठी ने समिति को बहुमूल्य सुझाव दिया कि प्रत्येक गांव में होने वाले बाल संरक्षण समिति की बैठक का समय समय पर मॉनिटर किया जाए तथा संस्था में आवासीय बच्चों के व्यवसायिक प्रशिक्षण और औपचारिक प्रशिक्षण पर विशेष ध्यान दिए जाने की आवश्यकता है। अंत में मुख्य विकास अधिकारी ने सभी सदस्यों को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए बैठक के समापन की घोषणा की।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!