कृषकों के हित के दृष्टिगत ,जनपद के समस्त खुदरा उर्वरक बिक्रेताओं को जिलाधिकारी का निर्देश

दीनदयाल शास्त्री (ब्यूरो)

पीलीभीत । जिलाधिकारी पुलकित खरे विज्ञप्ति जारी कर बताया है कि जनपद में , यूरिया सस्ता होने तथा फसल की बढवार में सहायक होने के कारण किसान यूरिया की खपत को बढातें चले जा रहे है । देशी खाद का उपयोग ना के बरावर होने से किसान यूरिया पर पूरी तरह निर्भर है । जबकि अधिक यूरिया देना मृदा स्वास्थ के लिए हानिकारक है । उक्त के सम्बन्ध में प्रेस विज्ञप्ति दिनांक 30 सितम्बर 2020 को दैनिक समाचार पत्रो मे प्रकाशित करायी गयी थी । जिसमें अधिक यूरिया के प्रयोग से फसलो से होने वाली हानियों के विषय में किसानो को अवगत कराया गया था । जिसमें मृदा परीक्षण के आधार पर गेहूं की फसल हेतु यूरिया 02 बैंग , सरसों की फसल हेतु 1.25 बैंग , एवं गन्ना की फसल हेतु 3.5 प्रति एकड़ बैग निर्धारत किया गया था । वर्तमान परिवेश मे पराली प्रबन्धन के कारण एवं गेहूँ फसल की अच्छी पैदावार करने हेतु 01 बैग यूरिया की अतिरिक्त मांग किसानो द्वारा की जा रही हैं अतः कृषको की उक्त मांग एवं व्यापक हित को दृष्टिगत रखते हुये जनपद के समस्त खुदरा उर्वरक विक्रेताओं को निर्देशित किया जाता है कि किसानो को एक बैग अतिरिक्त यूरिया प्रति एकड़ प्रदान करना सुनिश्चित करें।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!