पंचायत चुनाव की आहट से गांवों में बढ़ने लगा “बी पी”

मनोहर कुमार (संवाददाता)
सम्भावित दावेदार दे रहे नव वर्ष व पर्व की शुभकानाएं
“बी पी” बैनर पोस्टर पर दे रहे मैदान में आने की सम्भावना

चंदौली। पांच साल का कार्यकाल की समाप्ति के बाद गांवों से प्रधान पद से पैदल कर दिए गए।अब गांवों में प्रशासक विकास की इबारत लिख रहे हैं। मार्च तक पंचायत चुनाव हो जाने की संभावनाओं के बीच गांव का बी पी बढ़ने लगा है। सम्भावित दावेदार बैनर पोस्टर के सहारे अपनी उपस्थिति व चुनाव में आने की संभावनाओं को पुष्ट कर रहे हैं।अब गांवों में राजनीतिक खुशहाली आने लगी है।चौपालों पर इसकी चर्चा भी चल पड़ी है।धान के कटोरे के रूप में ख्यातिलब्ध चंदौली जनपद में पंचायत चुनाव के होने की सम्भावना के बीच राजनीतिक बयार बहने लगी है।पांच साल का कार्य काल पूरा होने के बाद शासन ने प्रधानों को पद से हटा दिया। इसके बाद से अब गांवों की कमान प्रशासक के हवाले कर दी गई है। सरकार ने पंचायत चुनाव कराने के लिए मार्च तक समय निर्धारित किया है। संभावना जताई जा रही है कि इस समयवधि में कभी भी चुनावी तिथि का एलान किया जा सकता है। प्रधानों के कार्यकाल की समाप्ति के साथ ही गांवों में राजनीतिक रंग भी चढ़ने लगे है।इसके साथ ही गांवों की ” बी पी” भी बढ़ रही है। सम्भावित दावेदार ” बी पी” के जरिए अपनी उपस्थिति का एहसास कराने में लग गए हैं।किस पद पर उनका दावा मजबूत हो सकता है इस पर चर्चा भी कर रहे हैं। बीपी के सहारे अपनी उपस्थिति के साथ लोगों को नववर्ष व पर्व की शुभकामनाएं भी अर्पित कर रहे हैं। गांवों में खेती बारी के दौर में राजनीतिक खुशहाली आ रही है।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!