गन्ने के खेत में मिला लहूलुहान तेंदुए का शव, शिकारियों द्वारा हत्या की आशंका

गौरव पाण्डेय (संवाददाता)

■ रात शिकारी शिकार के लिए लगाते हैं फंदे का जाल

■ पूर्व में भी आ चुकी है इस तरह का मामला

■ वन विभाग ने तेंदुए के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा

फरीदापुर । मामला जिला बरेली के नगर फतेहगंजपूर्वी का है, जहाँ ग्राम लखनपुर समीप खेत में आज सुबह तेंदुए का शव मिलने कब बाद पूरे क्षेत्र में हड़कम्प मच गया।

बताया जा रहा है कि गुरुवार देर रात शिकारियों द्वारा जंगली जानवरों का शिकार करने के लिए फंदे का जाल बिछाया था जिसमें एक तेंदुआ फंस गया । सुबह जब शिकारी शिकार की तलाश में खेतों की तरफ निकले तो बिछाए गए फँदे के जाल में तेंदुआ को फंसा देख उनके होश उड़ गए । चर्चा के अनुसार पहले तो शिकारी वहां से भाग खड़े हुए थे लेकिन बाद में कई शिकारी इकट्ठा होकर फिर मौके पर पहुँचे और कानूनी शिकंजे से बचने के लिए फंदे मदन फंसे तेंदुआ को ही पीट-पीट कर मार डाला और बाद में उसे लखनपुर निवासी रामऔतार के गन्ने के खेत में फेंक दिया तथा फरार हो गए। अनुमान लगाया जा रहा है कि शिकारियों द्वारा अधिकतर चोट तेंदुआ के सिर में किया गया होगा जिसकी वजह से वह लहूलुहान भी हो गया था।

सुबह खेतों की देखभाल को निकले किसानों ने जब गन्नो के बीच तेंदुआ का शव पड़ा देखा तो हड़कम्प मच गया । धीरे-धीरे यह खबर आग की तरह पूरे क्षेत्र में फैल गयी और फिर देखते ही देखते आसपास के क्षेत्रों के ग्रामीणों की भीड़ इकट्ठा होने लगी लेकिन किसी की हिम्मत पास जाने की नहीं थी । काफी देर बाद भी शव वहीं पड़ा रहने पर कुछ लोगों ने करीब जाकर देखा तो वह खून से लथपथ मृत था। जिसके बाद घटना की सूचना पर थाना पुलिसकर्मी एवं फारेस्ट क्षेत्राधिकारी टीम के साथ मौके पर पहुँचे । जिन्होंने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम हेतु भेजा।

बताते चलें कि इसी प्रजाति का एक जीव शिकारियों के फँदे में पूर्व में भी फँस चुका है जिसे फारेस्ट टीम द्वारा पकड़कर बरेली भेजा गया था।

वन रेन्जर मुकेश चन्द्र काण्डपाल ने बताया कि शव को आईवीआरआई बरेली भेजा गया है, जहाँ पोस्टमार्टम के बाद ही मृत्यु का कारण ज्ञात हो सकेगा। जाँच में फारेस्ट टीम जुट गई है।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!