आरटीएस क्लब प्रांगण में नवाह पाठ का शुभारंभ

विनोद धर (संवाददाता)

सोनभद्र । रामचरितमानस नवाह पारायण महायज्ञ के 26 वें वर्ष का पट्टाभिषेक पूज्य पाद काशी रत्न से अलंकृत सूर्य लाल मिश्र के कर कमलों द्वारा महामंत्री सुशील पाठक द्वारा कराया गया।
पूर्व संध्या पर विगत वर्षो की भांति इस वर्ष भी वैदिक मंत्रोचार के साथ प्रभु श्री राम दरबार की सावधि प्राण प्रतिष्ठा आचार्य सन्तोष कुमार द्विवेदी के साथ पंडित शिव कुमार शास्त्री, पंडितअनील कुमार पाण्डेय, पंडित यशवंत पांडेय, पंडित रमेश पांडेय आदि ने सम्पन्न कराई।
माल्यार्पण व स्वास्ति वाचन तथा दरबार की आरती के पश्यात व्यास जी के द्वारा भूदेव की परिक्रमा प्रारंभ की गई। प्रातः 9:00 से श्री रामचरितमानस परायण का प्रथम दिवस कथा

मंगल भवन और मंगल हारी, द्रबहु सो दसरथ अजिर बिहारी।

तुलसीदास कृत रामचरितमानस के प्रथम सोपान मंगलाचरण से प्रारंभ हुआ, दोहा और चौपाई को के माध्यम से मुख्य व्यास जी द्वारा सती प्रसंग, पार्वती विवाह, प्रसंगों की व्याख्या की गई।
यजमान अजय शुक्ला ने पत्नी माधुरी शुक्ला संग पूजन अर्चन कार्य को मूर्त रूप प्रदान किया।
आरटीएस क्लब प्रांगण में 2020-21 का 26 वां यज्ञ का प्रारंभ हुआ। बड़े हर्ष उल्लास के साथ सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए समिति के समस्त पदाधिकारीगण मिल जुलकर सावधानी पूर्वक इस यज्ञ को निर्विघ्न संपन्न कराने के लिए तत्पर दिखे, प्रारंभिक क्रम का संचालन शिशु तिवारी (राकेश त्रिपाठी) ने किया ।
इस शुभ अवसर पर समिति के अध्यक्ष राधेश्याम जालान, महामंत्री सुशील पाठक, शिशु तिवारी सदर विधायक भूपेश चौबे, किशोर केडिया पूर्व अध्यक्ष एवं संरक्षक रतन लाल गर्ग, मृत्युंजय जायसवाल, रामचरितमानस नवा पाठ समिति के मीडिया प्रभारी हर्षवर्धन केसरवानी, चंदन चौबे मन्नू पांडे, सुंदर केसरी महेश दुबे सुधाकर दुबे संरक्षक डॉ कुसुमाकर श्रीवास्तव, डॉक्टर जी एस चतुर्वेदी, राम शंकर चौबे ओम प्रकाश त्रिपाठी आदि उपस्थित रहे। प्रथम दिवस कथा का स्थगन, रामायण जी की आरती के साथ हुआ। महायज्ञ नवाह पाठ के दूसरे दिनश्री राम का जन्म उत्सव हर्षोल्लास के साथ मनाया जाएगा।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!