मीडिया में खबर आने के बाद क्यों भड़क गए वन कर्मी, उठा सवाल

संजय केसरी (संवाददाता)

डाला । विकास खण्ड चोपन के कोटा ग्राम पंचायत के टोला पतगड़ी में जिला पंचायत विभाग से बन रहे सड़क निर्माण में घटिया सामग्री के इश्तेमाल व वन क्षेत्र से मैटीरियल का प्रयोग किये जाने का आरोप ग्रामीणों द्वारा लगाए जाने की खबर जैसे ही जनपद न्यूज Live पर प्रकाशित हुआ । वन विभाग में हड़कम्प मच गया । खबर के बाद आनन-फानन में वन विभाग के रेंजर अनिल सिंह अपने दल बल के साथ मौके पर जा धमके । वन विभाग के अधिकारी आने की सूचना जैसे ही पत्रकारों को हुई वे भी मौके पर पहुंच गए । लेकिन जैसे ही पत्रकारों ने फोटो-वीडियो बनाना शुरू ही किया, वन रेंजर के साथ आये सेक्शन इंचार्ज रमापति दुबे अचानक मीडिया पर भी भड़क गए । उनके अचानक भड़कने से अन्य वन कर्मी भी स्तब्ध थे और कारण भी पता नहीं चल सका । लेकिन सेक्शन इंचार्ज के अचानक भड़कने से कई सवाल भी खड़े हो गए । हालांकि बाद में मामले को भांप कर रेंजर पत्रकारों को मनाने में जुट गए ।

सवाल यह उठता है कि जब वन विभाग की टीम मौके पर जांच करने पहुंचे थे तो आखिर सेक्शन इंचार्ज मीडिया पर क्यों भड़के । क्या खबर लगने से उन्हें दिक्कत हुई या फिर कोई और मामला है ।
लेकिन यह तो साफ हो गया कि सरकार जिनके भरोसे पर जीरो टॉलरेंस की बात करती है उन अधिकारियों व कर्मचारियों का यही हाल है।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!