एमएसपी गारंटीड की मांग जायज : श्रीकांत त्रिपाठी

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

किसान दिवस पर धरने पर बैठे किसान

● धान खरीद मे व्यापक भ्रष्टाचार का किसानों ने लगाया आरोप

सोनभद्र । अलग पूर्वांचल राज्य स्थापना की मांग कर रहे पूर्वांचल नव निर्माण मंच के अध्यक्ष श्रीकांत त्रिपाठी के नेतृत्व में आज किसान दिवस पर चतरा तथा नगवां के किसान धरने पर बैठकर दिल्ली में चल रहे किसानों के आंदोलन का समर्थन करते हुए एमएसपी को गारंटीड करने की मांग को जायज तथा किसानों के हित में बताया। किसानों नें किसानों के नेता चौधरी चरण सिंह के चित्र पर माल्यार्पण करते हुए एकदिवसीय धरना सुबह ग्यारह बजे से शुरू किया जो देर शाम पांच बजे समाप्त हुआ।

धरने पर बैठे किसान उदय प्रताप तथा चन्द्रभूषण सिंह ने कहा कि एमएसपी की गारंटी नही होने से आज हरियाणा पंजाब के किसानों से अधिक उत्तर प्रदेश के किसानों को नुकसान हो रहा है। वहीं जिले के किसान सरकारी उपेक्षा के कारण न्यूनतम समर्थन मूल्य के सापेक्ष आधा दाम मुश्किल से पा रहे हैं।

अभय पटेल तथा गौरव ने धान खरीद मे व्यापक भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए कहा कि क्रय केन्द्र पर प्रायः कांटा के सापेक्ष मात्र 20% ही भौतिक खरीद किया जा रहा है और 80% धान आज भी खाद्यान्न माफियाओं के माध्यम से ही केन्द्र खरीद रहे हैं। किसानों ने तेलंग हाट शाखा तथा नेफेड तथा एग्रो के क्रय केन्द्रों की जांच कराने की मांग भी जिलाधिकारी से की गयी।

वनवासी सेवा समिति के अध्यक्ष भोला पाण्डेय ने किसान आंदोलन को किसान क्रांति बताया।
अध्यक्षता कर रहे मंच के अध्यक्ष श्रीकांत त्रिपाठी ने कहा कि बहुत ही दुखदुखद और दुर्भाग्यपूर्ण दृश्य है कि अपनी और हम सब की जायज मांगों को लेकर आज किसान दिवस पर देश की राजधानी में देश का किसान उपवास पर बैठा है और सरकार मौन है।

श्रीकान्त त्रिपाठी ने कहा कि आज का धरना किसानों के हितों की सुरक्षा के लिए संकेत मात्र है। आगे आवश्यकता पड़ी तो मंच के नेतृत्व मे किसान हित में यहां के किसान सड़क पर प्रदर्शन भी करेंगे।
सोमदेव, छोटेलाला, मनोज कुमार उपस्थित थे



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!