प्रधान और सचिव ने बनवा दिया 1करोड़ 66लाख 68हजार का अवैध शौचालय, मुकदमा दर्ज

फ़ैयाज़ खान मिस्बाही(ब्यूरो)

ग़ाज़ीपुर। भदौरा ब्लाक के गहमर गांव में ग्राम प्रधान, तत्कालीन व वर्तमान सचिव ने मिली भगत कर गांव के 1238 पात्रों की जगह दूसरे के नाम से इसे बनवा दिया है।कुल एक करोड़ 66 लाख 68 हजार रुपये का दुरुपयोग सामने आया है। जिला विकास अधिकारी भूषण की जांच में यह तथ्य सामने आने पर भदौरा ब्लाक के प्रभारी सहायक विकास अधिकारी मदन मोहन गुप्त ने प्रधान मीरा चौरसिया, तत्कालीन सचिव राधेश्याम यादव व वर्तमान सचिव अवधेश खरवार के खिलाफ तहरीर देकर मुकदमा दर्ज कराया है।इससे संबंधितों में खलबली मची हुई है।मालूम हो कि गहमर एशिया का सबसे बड़ा गांव है।गहमर में शौचालय निर्माण में हो रही अनियमितता पर ग्रामीणों ने इसका विरोध किया,लेकिन कोई सुनवाई नहीं होने पर तत्कालीन जिलाधिकारी ओमप्रकाश आर्य से लिखित शिकायत की।इस पर जिलाधिकारी ने जांच के लिए पांच सदस्यीय कमेटी गठित की। जिला विकास अधिकारी भूषण कुमार के नेतृत्व में गठित टीम ने शिकायत के प्रत्येक बिंदुओं की विस्तार जांच की।टीम में तकनिकी जांच के लिए पीडब्ल्यूडी के खुर्शीद अहमद व आरइएन के नीरज कुमार थे।
इस दौरान सामने आया कि गांव के 1238 लोगों के नाम पर किसी दूसरे का शौचालय बना दिया गया है।इसमें ग्राम प्रधान मीरा चौरसिया,तत्कालीन सचिव राधेश्याम यादव व वर्तमान सचिव अवधेश खरवार दोषी पाए गए।इसकी रिपोर्ट बनाकर जिलाधिकारी के यहां प्रेषित कर दी गई।जिलाधिकारी के निर्देश पर भदौरान ब्लाक के प्रभारी सहायक विकास अधिकारी मदन मोहन गुप्ता ने तीनों के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराया है।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!