किसान बिल के विरोध में जअपा एवं रालोद ने किया बुद्धि शुद्धि यज्ञ

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन के 21 दिन बीत जाने के बावजूद केंद्र सरकार आँखें मूंदे हुए है। जिसके विरोध में आज जन अधिकार पार्टी एवं राष्ट्रीय लोकदल के कार्यकर्ताओं ने संयुक्त रूप से चौधरी चरण सिंह की प्रतिमा के समक्ष प्रधानमंत्री, गृह मंत्री एवं कृषि मंत्री को सद्बुद्धि आए, जिसको लेकर बुद्धि शुद्धि यज्ञ किया।

इस दौरान जन अधिकार पार्टी के मण्डल अध्यक्ष भागीरथी सिंह मौर्य, जिलाध्यक्ष आदित्य मौर्य एवं राष्ट्रीय लोकदल के जिलाध्यक्ष सन्तोष कुमार पटेल ने कहा कि “दिल्ली में किसान आंदोलन का आज 22वाँ दिन है। भीषण ठंढ, बारिश एवं कुहरा के बीच 22 दिन से किसान, किसानों के विरोध में बने तीनों काले कानून को निरस्त करने, एमएसपी को लागू किए जाने व वैधानिक दर्जा दिए जाने, किसानों के सभी फसलों का वैधानिक उचित और लाभकारी न्यूनतम मूल्य वास्तविक लागत मूल्य लागत में कम से कम 50% जोड़कर समर्थन मूल्य घोषित किए जाने, किसानों की फसल को मंडियों में समर्थन मूल्य पर खरीदे जाने की मांग कर रहे है। केंद्र सरकार किसानों की जायज मांगो पर विचार न कर बल्कि किसानों के ऊपर पानी की बौछारें एवं लाठियां चलवा रही है जो घोर निंदनीय है। सरकार यदि अब भी नही चेती तो आने वाले समय मे यह किसान आंदोलन व्यापक रूप लेगा जिसे पुलिस के दम पर भी दबाया नहीं जा सकेगा।”

बुद्धि शुद्धि यज्ञ में जअपा के जिला प्रभारी सभापति सिंह, जिला सलाहकार रामनरायन प्रजापति, महिला जिलाध्यक्ष रानी सिंह, जिला महासचिव रविरंजन शाक्य, विरेंद्र मौर्य, लोक तांत्रिक जनता दल के जिलाध्यक्ष रामभरोसे सिंह, रालोद के किसान प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष जय प्रकाश सिंह, निर्मल मिश्रा, रामजी गुप्ता सहित अन्य लोग मौजूद रहे।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!