अगर रिश्ते होते हैं तनावमुक्त तभी बनते हैं उन्नति के मार्ग

घर में खुशहाली और संपन्नता तभी आती है जब परिवार में मधुरता बनी रहे। अगर रिश्ते तनावमुक्त होते हैं तभी उन्नति के मार्ग बनते हैं। रिश्तों में मनमुटाव होने से पूरे परिवार की शांति भंग हो जाती है और इसका असर पूरे परिवार पर पड़ता है। घर में कलह के कई कारण हो सकते हैं, इनमें वास्तु दोष भी वजह हो सकता है। वास्तु में बताए गए कुछ आसान उपाय परिवार में शांति और प्रेम को बढ़ाने में सहायक हो सकते हैं। आइए जानते हैं इन उपाय के बारे में।

प्रतिदिन सुबह और शाम घर में कर्पूर जलाएं। रात्रि में सोने से पूर्व कर्पूर जलाकर शयन करने से तनावमुक्त नींद आती है। प्रतिदिन गायत्री मंत्र और आदित्यहृदय स्तोत्र का पाठ करें। नियमित रूप से हनुमान जी की पूजा करें। धार्मिक पुस्तकों का दान करें। अनाज का दान करें। पति-पत्नी के बीच तनाव रहता है तो शुक्रवार के दिन मां कालिका के मंदिर में जाकर उनसे क्षमा मांगें। शुक्रवार के दिन पत्नी को इत्र भेंट करें। यदि पति, पत्नी की मांग में सिंदूर भरे और पत्नी, पति के मस्तक पर पीला तिलक लगाए तो दोनों के बीच विवाद मनमुटाव दूर हो जाते हैं। सूर्योदय से पहले घर में झाडू लगाएं। पहली रोटी गाय और आखिरी रोटी कुत्ते की निकालें और रोजाना उन्हें खिलाएं। यदि घर में भाइयों के बीच क्लेश है तो भगवान श्रीगणेश एवं भगवान कार्तिक का पूजन प्रतिदिन करें। भगवान विष्णु को तुलसी पत्र अर्पित करें। माता-पिता के चरण स्पर्श करें। रामायण का पाठ करें। पूरे घर में शंख की ध्वनि करें। गीता पाठ भी घर में शांति बनाने में सहायक होता है। घर में मिठाई लाएं तो सबसे पहले भगवान को भोग लगाएं, उसके बाद परिवार को खिलाएं। प्रतिदिन दुर्गा चालीसा का पाठ करें।

नोट:
इस आलेख में दी गई जानकारियों पर हम यह दावा नहीं करते कि ये पूर्णतया सत्य एवं सटीक हैं तथा इन्हें अपनाने से अपेक्षित परिणाम मिलेगा। इन्हें अपनाने से पहले संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!