एनसीसीएफ के तीनो केंद्र बंद होने से किसान चिंतित

संजीव कुमार पांडेय (संवाददाता)

राजगढ़ । पटेहरा विकास खंड के सभी एनसीसीएफ-भारतीय राष्ट्रीय उपभोक्ता संघ के धान क्रय केंद्र सरकार द्वारा एकाएक बंद कर दिए जाने से क्षेत्रीय किसानों की चितांये बढ़ गई है। क्षेत्र के पूर्वी और दक्षिणी भू-भाग पर पहले से 20 किलोमीटर की परिधि में तीन केंद्र एनसीसीएफ के क्रमश: 1-संतनगर 2-परसिया और 3-रिक्शा में खोले गए थे। इन केंद्रों पर पहले से आठ सौ से अधिक किसानों के धान बेचने के लिए नंबर लगा रखा था। इससे उनके सामने धान बिक्री की समस्या उत्पन्न हो गई है। वे अपनी फसल के मूल्य के लिए चिंतित हैं।

इन केंद्रों पर अधिकतम 145 किसानों के धान की खरीद हुई थी और सैकड़ों किसान आनलाइन रजिस्ट्रेशन करवा कर लेखपाल और तहसील का चक्कर सत्यापन के लिए लगा रहे थे कि सभी केंद्र ही बंद हो गए।अब जो भी केंद्र चल रहे हैं उनकी दूरी लगभग 40 किलोमीटर है। किसान टोकन लेकर अपने खलिहान में कड़ाके की ठंड में रखवाली कर रहा था कि खरीद केंद्र बंद हो गए अब किसान जिस केंद्र पर दोबारा नंबर लगाएगा वहां बहुत पीछे हो जाएगा और धान खरीद नहीं हो पाएगी। इस समय किसानों को रबी की बुआई, खाद, बीज, डीजल के लिए रुपये की सख्त जरूरत है। दर्जनों किसानों का धान क्रय केंद्र पर गिरा था जिसे केंद्र प्रभारियों द्वारा रातो-रात हटवा दिया गया।

वहीं इस बाबत धनजंय सिंह डिप्टी आरएमओ ने बताया कि एनसीसीएफ के सभी धान क्रय केंद्र सरकार द्वारा बंद कर दिए गए हैं।किसान को खुली छूट है तहसील के किसी भी केंद्र पर धान बेच सकता है।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!