प्लाटिंग की रंजिश में हुई थी पूर्व प्रधान की हत्या, पुलिस ने किया घटना का खुलासा

जनपद न्यूज़ ब्यूरो

मिर्जापुर । कहा गया है जर, जोरू और जमीनी के चक्कर में अक्सर हत्याएँ हो जाती हैं। ऐसे ही एक मामले का आज पुलिस अधीक्षक ने खुलासा किया है जिसमें पूर्व प्रधान की हत्या की वजह उसी के पार्टनर के साथ जमीनी विवाद बन गयी। पुलिस ने आज पूर्व प्रधान राजेश यादव के सनसनीखेज हत्याकांड का खुलासा करते हुए तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इसमें पूर्व प्रधान का प्लॉटिंग में पार्टनर बाबू खान, उसका पूर्व चालक कृपाशंकर और एक अन्य आरोपी कपिल चौबे शामिल है। फिलाहल अभी भी साजिशकर्ता और दोनों शूटर फरार हैं।

मामले का खुलासा पुलिस अधीक्षक अजय कुमार सिंह ने पुलिस लाइन सभागार में किया।

पुलिस अधीक्षक ने घटना का खुलासा करते हुए बताया कि “पूर्व प्रधान राजेश यादव नगर के तरकापुर निवासी बाबू खान के साथ जमीन की प्लॉटिंग का काम कर रहा था। राजेश ने बाबू खान को एक जमीन 60 लाख रुपये में बेची थी, जो उसे उसे वापस लेना चाहता था। विसुन्दरपुर निवासी अखिलेश दुबे भी उस क्षेत्र में जमीन लेना चाहते थे। राजेश यादव उन्हें जमीन लेने से रोक रहा था। अखिलेश दुबे और बाबू खान ने विंध्याचल के कपिल चौबे से संपर्क किया। कपिल ने धनबाद जेल में बंद एक गैंग से संपर्क किया। गैंग ने दो शूटर उपलब्ध कराए। उन दो शूटरों ने ही गत 20 नवंबर की रात राजेश यादव की बलहरा मोड़ के पास हत्या की थी। अभी दोनों शूटर व साजिशकर्ता अखिलेश दुबे फरार हैं। पुलिस उनकी तलाश में है।”



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!