राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ ने बैंकों से साधा संपर्क, वेतन खाते को सैलरी खाते में परिवर्तित करने की मांग

जनपद न्यूज ब्यूरो

सोनभद्र । यूँ तो शिक्षकों का वेतन सीधे खाते में ही जाता है लेकिन बैंक में साधारण सेविंग एकाउंट में वेतन जाने से शिक्षकों को कई तरीके का लाभ नहीं मिल पाता, जो एक सरकारी वेतनभोगी को मिलना चाहिए । इन दिनों राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ के प्रतिनिधिमंडल शिक्षक साथियों के वेतन खाते को सैलरी खाते में परिवर्तित करने के लिए पुरजोर कोशिश में लगा हुआ है ।
इस संबंध में मंगलवार को राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ का प्रतिनिधिमंडल इण्डियन बैंक (इलाहाबद बैंक) के मण्डलीय कार्यालय मीरजापुर में क्षेत्रीय प्रबंधक व जनपद सोनभद्र के मुख्य प्रबंधक तथा एलडीएम से संयुक्त वार्ताक्रम में मुलाकात की। प्रतिनिधि मंडल ने अपना विषय रखते हुए खाते को परिवर्तित करने की मांग की । प्रतिनिधि मंडल का कहना है कि वर्षों से जानकारी के अभाव में शिक्षकों को सैलरी एकाउंट का लाभ नहीं मिल सका है । मगर आगे से सभी शिक्षकों को इसका लाभ मिलना चाहिए ।

शिक्षकों के वेतन खातों को सैलरी खाते में परिवर्तन के संबंध में महासंघ को गूगलफार्म द्वारा अबतक प्राप्त सात सौ से उपर शिक्षको के खातों का डाटा प्राप्त हुआ है । जिसे लेकर कल ही साकारात्मक वार्ता भी हुई।

आपको बतादें कि शिक्षकों का अब तक वेतन सेविंग एकाउंट में जाता रहा है, यदि प्रयास से यह खाता सैलरी एकाउंट में परिवर्तित हो जाता है तो शिक्षकों को उसी दिन से लाभ मिलना शुरू हो जाएगा ।
इन सम्बन्ध में महासंघ के सहसंयोजक इन्दूप्रकाश सिंह ने बताया कि अब तक जानकारी न होने से शिक्षकों को काफी नुकसान हुआ है लेकिन प्रयास किया जा रहा है, उम्मीद है कि सकारात्मक परिणाम आएगा और सभी शिक्षक बंधुओं को सैलरी एकाउंट का लाभ जैसे-

● FREE PER.SONAL Rs. 2 LAKHS – Primary Card holder NA

● ACCIDENT INSURANCE Rs. 1 LAKH- First add on card

● (DEATH COVER) तथा MAXIMUM 5 Financial and 2 non Financial Transactions at 5 financial and 2 non financial

● Other Bank ATMs per Month ree of cost.free

● WITHDRAWAL AT OTHER BANK ATMs per Month of cost.
(irrespective of the centre) (Presently 3 Withdrawals)

वार्ता में मण्डल संयोजक अखिलेश मिश्र, जिलासंयोजक अशोक कुमार त्रिपाठी, सहसंयोजक इन्दूप्रकाश सिंह व रविकांत, श्रीनाथ गुप्ता शामिल रहे।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!