छूटी हुई मौखिक/प्रयोगात्मक परीक्षा दे सकेंगे परीक्षार्थी, पढ़ें क्या है प्रक्रिया

रमेश यादव (संवाददाता)

दुद्धी । महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ वाराणसी से जुड़े समस्त प्रयोगात्मक एवं मौखिक परीक्षा के लिए छात्र/छात्राओं को विश्वविद्यालय प्रशासन ने एक अंतिम मौका दिया है। यदि किसी कारणवश वर्ष 2019-20 के स्नातक, स्नातकोत्तर, व्यवसायिक एवं डिप्लोमा सहित अन्य प्रेक्टकली विषयों की मौखिक परीक्षा छूट गई है तो ऐसे परीक्षार्थियों की अब साल बर्बाद होने से बच जाएगी। उनके लिए विश्वविद्यालय की ओर से एक और अंतिम मौका देते हुए कहा गया है कि स्नातक/स्नातकोत्तर/व्यवसायिक पाठ्यक्रमों एवं डिप्लोमा कोर्स के लिए सत्र 2019-20 के रेगुलर एवं प्राइवेट परीक्षार्थियों की छूटी हुई मौखिक/प्रयोगात्मक परीक्षा विश्वविद्यालय परिसर स्थित सम्बंधित विभाग में सम्पन्न कराई जाएगी।

इसके लिए परीक्षार्थी अपने कॉलेज से फॉरवर्ड कराकर दो हजार रुपये शुल्क विश्वविद्यालय के काउंटर पर जमा कर मौखिक परीक्षा में उपस्थित हो सकते हैं। इसके लिए 18 दिसम्बर 2020 से 24 दिसम्बर 2020 के मध्य समय निर्धारित की गई है।

भाऊ राव देवरस राजकीय पीजी कॉलेज के परीक्षा प्रभारी डॉ0 रामसेवक सिंह यादव ने बताया कि “सत्र 2019-20 के स्नातक एवं स्नातकोत्तर सहित अन्य मौखिक एवं प्रेक्टकली विषयों में छूट गए परीक्षार्थियों के लिए विश्वविद्यालय ने अंतिम मौका दिया है।ऐसे परीक्षार्थी जिनकी मौखिक परीक्षा छूट गई है वे 18 दिसम्बर से 24 दिसम्बर 2020 के मध्य विश्वविद्यालय परिसर वाराणसी में आयोजित होने वाले मौखिक एवं प्रेक्टिकल परीक्षा में सम्मिलित हो सकते हैं।यह परीक्षार्थियों के लिए अंतिम मौका है।”



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!