वर्ष भर से सुस्त पड़ा कनहर परियोजना, नही दिख रही प्रगति

राजा(संवाददाता)

अमवार। निर्माणाधीन कनहर सिचाई परियोजना की दशकों से थमी रफ्तार को चार दिसंबर 2014 को दुबारा शुरू कराये जाने के बाद जिस रफ्तार से निर्माण कार्य हो रहा था उसे देख कर ऐसा प्रतीत हो रहा था की यह परियोजना अपने निधारित समय 2018 तक पुर्ण हो जायेगा। लेकिन परियोजना को दुबारा शुरू होने के छ: वर्ष के अन्दर तीन बार समयावधि व दो बार लागत बढ़ने के बाद भी अभी तक परियोजना निर्माण कार्य पुर्ण होता नजर नही आ रहा है। सुत्रों की माने तो सन् 1976 मे कनहर सिचाई परियोजना का शिलान्यास तत्कालीन मुख्यमंत्री ने किया था और उस समय इसकी लागत लगभग 28 करोड़ मे निर्माण पुर्ण करना था , लेकिन दुबारा 2014 मे शुरू हुई कनहर सिचाई परियोजना की लागत 22 सौ करोड़ से अधिक हो गई ,और अभी तक लगभग दो हजार करोड़ खर्च हो गया। फिर भी अपने निधारित समयावधि मे पुर्ण होता नही लगता। स्थानीय नागरिकों मे चर्चा बना हुआ है की लगभग एक वर्ष से कोरोना के कारण सुस्त पड़ी परियोजना कब तक पुर्ण होगा जिससे क्षेत्र मे हरियाली आयेगी।
यहाँ तक की कनहर विस्थापितों के लिये बनाये जा रहे अमवार पुनर्वास कालोनी मे अभी तक सड़क, नाली का निर्माण नही हो सका है।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!