पराली जलाने पर आठ किसानों से वसूला गया 25 हजार जुर्माना

संजीव कुमार पांडेय (संवाददाता)

राजगढ़ । सेटेलाइट सीस्टम से मीरजापुर में आठ किसान को पराली जलाते हुए पकड़े गए। प्रशासन द्वारा पराली जलाने वाले इन किसानों से 25 हजार का जुर्माना वसूला गया।
उप निदेशक कृषि डॉ0 अशोक उपाध्याय ने कहा कि पराली जलाने की बजाए गोवंश आश्रय स्थल के पशुओं के लिए दान करें। अब तक जनपद में कुल 132 कुंतल पराली गोवंश आश्रय स्थल को दान की जा चुकी है। किसान पराली अथवा फसल अवशेष में वेस्ट डीकंपोजर का छिड़काव करके जैविक खाद बनाकर प्रयोग कर सकते है, इससे मिट्टी की उर्वरा शक्ति बढ़ जाती है और फसल का उत्पादन भी अधिक होता है। उप निदेशक ने बताया कि जनपद में पराली जलाने के संबंध में 08 घटनाएं सैटेलाइट के माध्यम से प्राप्त हुई हैं। तहसील चुनार के ग्राम भड़ेवल में किसान अनिकेत सिंह पुत्र अंजनी सिंह 2500, तहसील सदर के मझवां ब्लाक में किसान पंचम सिंह पुत्र देवी चरन सिंह 2500, मड़िहान तहसील के ग्राम बभनी थपनवा में तीर्थ नरायन पुत्र गंगा 15 हजार के साथ ही कलवारी माफी के कमलेश पुत्र रामनरेश उर्फ नेहरू एवं सुदामा पुत्र सोहन द्वारा तिल की पराली जलाने पर 2500-2500 रुपये का जुर्माना वसूल किया गया। वहीं ग्राम गोरथरा में किसान पारसनाथ मौर्य पुत्र राजाराम द्वारा घास-फूस जलाने पर नोटिस दिया गया। साथ ही अवगत कराया गया कि अगर भविष्य में इस तरह की घटना सामने आने पर संबंधित के खिलाफ जुर्माना वसूल कर एफआइआर दर्ज कराया जाएगा। बताया कि पराली दान करने के लिए नंबर 05442-256357 पर अथवा मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डा. कपूर सिंह के मोबाइल नंबर 8630758148 संपर्क करके अवगत कराएं, जिससे पराली उठाया जा सके।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!