गौ आश्रय स्थलों पर त्रिपाल, टाट पट्टी व बोरा की कराई जाये व्यवस्था- जिलाधिकारी

दीनदयाल शास्त्री (ब्यूरो)

पीलीभीत । निदेशक पशुपालन एवं विकास, पशुपालन विभाग उत्तर प्रदेश द्वारा जनपद में संरक्षित निराश्रित/छुट्टा गोवंश के संरक्षण हेतु वृहद गौ संरक्षण केन्द्रों/कान्हा उपवन/कान्हा गौशाला/अस्थायी गौवंश आश्रय स्थलों में गौवंश को शीतलहर से बचाने हेतु निर्देश दिये हैं। उक्त निर्देशों के क्रम में जिलाधिकारी पुलकित द्वारा प्रत्येक गौ आश्रय स्थलों पर त्रिपाल, टाट पट्टी, बोरा आदि की व्यवस्था कराये जाने हेतु निर्देशित किया गया है व मण्डी परिषद से सम्पर्क स्थापित कर गौआश्रय स्थलों में बोरा आदि की व्यवस्था सुनिश्चित कराई जाये तथा स्वयं सेवी संस्थाओं से सम्पर्क कर गौ आश्रय स्थलों हेतु त्रिपाल, टाट पट्टी की समुचित व्यवस्था कराई जाये। प्रत्येक गौआश्रय स्थलों के चारो ओर परदे लगाये जाये, ताकि ठण्डी हवा अन्दर न जा सके, प्रत्येक गौआश्रय स्थलों का रात्रि भ्रमण करना सुनिश्चित किया जाये। यदि निरीक्षण के दौरान कोई समस्या संज्ञान में आयेतो यथा आवश्यक कार्यवाही कर नियमानुसार समस्या का निस्तारण कराया जाये। यदि कोई गौवंश ठण्ड, भूख एवं चिकित्सा के अभाव में मरता है तो सम्बन्धित का उत्तरदायित्व निर्धारित करते हुये अनुशासनात्मक कार्यवाही की जाये जिसके लिए सम्बन्धित अधिकारी स्वयं उत्तदायी होगें।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!