किसानों का उग्र प्रदर्शन, किसानों पर लाठीचार्ज, पंजाब सीएम व राहुल गांधी ने की निंदा

साल 2020 के मानसून सत्र में केंद्र की मोदी सरकार द्वारा पास कराए गए तीन विवादित कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों ने मोर्चा खोल दिया है । 26 नवंबर को किसानों को दिल्ली कूच आंदोलन को नियंत्रित करने के लिए हरियाणा और पंजाब की सीमा सील कर दी गई । वहीं दिल्ली की सीमा पर भी काफी कड़ाई की गई । कृषि कानून के खिलाफ दिल्ली कूच कर रहे किसानों को अंबाला-पटियाला बॉर्डर पर रोका गया है । यहां किसानों और पुलिस के बीच तनाव बढ़ गया है। किसानों ने पुलिस पर पत्थर फेंके, जिसके बाद पुलिस ने लाठीचार्ज किया और पानी की बौछारों का इस्तेमाल किया । पुलिस ने दिल्ली-हरियाणा बॉर्डर पर भी सुरक्षा बढ़ाई है ।

किसानों का प्रदर्शन कई जगह आक्रामक हो रहा है। गुरुग्राम में प्रदर्शन कर रहे योगेंद्र यादव और अन्य किसानों को हिरासत में लिया गया है । बिलासपुर थानाक्षेत्र में ट्रैक्टर पर सवार होकर योगेंद्र यादव दिल्ली की ओर जाने की तैयारी में थे, लेकिन पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया।

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने हरियाणा में पुलिस द्वारा किसानों पर किए गए लाठीचार्ज की निंदा की है । कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी ट्वीट कर किसानों पर हुए एक्शन की निंदा की और लिखा कि नहीं हुआ है अभी सवेरा, पूरब की लाली पहचान चिड़ियों के जगने से पहले, खाट छोड़ उठ गया किसान काले क़ानूनों के बादल गरज रहे गड़-गड़, अन्याय की बिजली चमकती चम-चम मूसलाधार बरसता पानी, ज़रा ना रुकता लेता दम! मोदी सरकार की क्रूरता के ख़िलाफ़ देश का किसान डटकर खड़ा है।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!