मिशन शक्ति : महिलाएं तथा बच्चों ने डीएम से सीधे की “हक की बात”, बेहिचक रखा अपना पक्ष

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । मिशन शक्ति अभियान के तहत आज महिलाएं और बच्चियों ने जिलाधिकारी एस0राजलिंगम से रूबरू होकर “हक़ की बात” किया। इसके लिए कलेक्ट्रेट सभागार में दो घंटे के पारस्परिक संवाद का आयोजन किया गया। इस दौरान महिलाओं और बच्चों ने स्थानीय समस्याओं के साथ ही यौन शोषण, घरेलू हिंसा, दहेज़, आर्थिक समस्याओं, शिक्षा तक पहुँच की उपलब्धता की समस्या आदि पर डीएम से बात की। डीएम ने मिशन शक्ति के बारे में उपस्थित महिलाओं को ब्रीफ किया।

ज्ञात हो कि प्रदेश में महिलाओं व बच्चों की सुरक्षा, सम्मान एवं स्वावलंबन के लिए चलाये जा रहे “मिशन शक्ति” को हर माह अलग थीम पर मनाने का निर्णय लिया गया है। इस माह की थीम “मानसिक स्वास्थ्य तथा मनोसामाजिक मुद्दों से सुरक्षा और सपोर्ट” तय की गयी है। महिला कल्याण विभाग द्वारा मिशन शक्ति के तहत बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार विभाग के साथ संयुक्त कार्ययोजना बनाकर इसे चलाया जा रहा है। इससे पहले अभियान के तहत किशोर- किशोरियां स्थानीय अधिकारियों से “शक्ति संवाद” के तहत अपनी बात रख चुके हैं।

इस दौरान उपायुक्त मनरेगा तेजभान सिंह, जिला विकास अधिकारी राम बाबू त्रिपाठी, जिला प्रोबेशन अधिकारी डॉ0 अमरेंद्र प्रोत्साहन, सहायक निबंधक उपायुक्त सहकारिता टी0एन0 सिंह, एचआईएमसी प्रत्यक्ष पांडेय जिला समन्वयक, महिला कल्याण अधिकारी नीतू यति सिंह, जिला समन्वयक साधना मिश्रा, बाल संरक्षण अधिकारी गायत्री दुबे, वीणा राव, रोमी पाठक, सामाजिक कार्यकर्ता शेषमणि दुबे, ओआरडब्लू0 सुधीर कुमार शर्मा परामर्शदाता, आजीविका मिशन की महिलाएं, आँगनबाड़ी कार्यकर्ती, महाविद्यालयों की बालिकाएं एवं महिला स्वास्थ्यकर्मी उपस्थित रही।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!