चोपन को प्रेरक ब्लॉक बनाने के लिए एक दिवसीय कार्यशाला संपन्न

कृपाशंकर पांडे (संवाददाता)

ओबरा। विकास खंड चोपन को प्रेरक ब्लॉक बनाने के लिए आज बी0आर0सी0 चोपन पर खंड शिक्षा अधिकारी मुकेश कुमार की अध्यक्षता में चोपन विकास खंड के संकुल शिक्षको, प्रधानाध्यापकों,प्रभारी प्रधानाध्यापकों की एक दिवसीय कार्यशाला संपन्न की गयी। जिसमे एस0आर0जी0 विद्यासागर,ए0आर0पी0 संजय यादव,मनीष श्रीवास्तव द्वारा विकास खंड को प्रेरक बनाने के लिए निर्धारित मापदंडो को प्राप्त करने की दिशा में प्रेरणा लक्ष्य,प्रेरणा सूची,समेकित 14 अभिलेख,ई-पाठशाला,तीनो मॉड्यूल (ध्यानाकर्षण,आधारशिला,शिक्षण संग्रह) पर विस्तृत प्रकाश डाला गया। रेडियो और टेलीविज़न प्रसारण के बारे में जानकारी दी गयी।बच्चों और अभिभावको तक इस प्रसारण की जानकारी देने की सबसे कहा गया। इसके साथ ही प्रिंट रिच कक्षा,ERAC आधारित पाठ योजना बनाने, SAT-2 आधारित परीक्षा परिणाम का विश्लेषण एवम् उस पर आधारित कार्ययोजना तैयार करने,NAS की तैयारी,जनपहल रेडियो कार्यक्रम, दीक्षा एप पर निष्ठा ट्रेनिंग समय से प्राप्त करने एवम् भविष्य में शिक्षण में प्रयोग हेतु व्यक्तिगत डायरी में में अभिलेखन करने,रीड अलॉंग एप का अधिकाधिक प्रयोग हेतु प्रत्येक शिक्षक/शिक्षा मित्र/अनुदेशक को 10-10 अभिभावकों के मोबाइल में दीक्षा एप व् रीड अलॉंग एप डाउन कराने का लक्ष्य निर्धारित है।

सम्मलित रूप से सभी प्रयास कर इस लक्ष्य को प्राप्त करना है।पिछड़े क्षेत्र में एंड्राइड मोबाइल की कम उपलब्धता की दशा में बच्चों के घर पर जाकर 4-5 की संख्या में बच्चों को मुहल्ला शिक्षण करने के बारे में कहा गया।सभी टीम भावना से से समेकित प्रयास करे तभी हम अपने ब्लाक को सितम्बर 2021 तक प्रेरक ब्लॉक बना सकेंगे। इस हेतु आवश्यक है कि हम अपने-अपने विद्यालय को अगस्त 2021 तक हर हाल में में घोषित करे।
एक लक्ष्य सितम्बर 2021 को प्रेरक ब्लॉक घोषित करने के संकल्प के साथ आज की कार्यशाला समाप्त की गयी।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!