7 सूत्रीय माँगों के समर्थन में रोडवेजकर्मियों का एकदिवसीय धरना-प्रदर्शन

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । परिवहन निगम कर्मचारी-अधिकारी संयुक्त संघर्ष मोर्चा के आह्वान पर आज रोडवेज कर्मचारी-अधिकारियों ने प्रदेश के राष्ट्रीयकृत मार्गों पर निजी बसें चलाने व इन मार्गों पर अवैध रूप से चल रहे डग्गामार निजी वाहनों का संचालन बंद करने समेत अन्य मांगों को लेकर रॉबर्ट्सगंज रोडवेज डिपो परिसर में एक दिवसीय धरना-प्रदर्शन किया।

इस दौरान धरनारत शाखा मंत्री प्रियंकर मिश्र का कहना है कि प्रदेश के राष्ट्रीयकृत मार्गों पर निजी बसें चलाने से परिवहन निगम का कारोबार सिमट गया है साथ ही अवैध रूप से दौड़ रहे डग्गामार वाहनों के संचालन से इसके अस्तित्व को लेकर भी संकट खड़ा हो गया है। धरना-प्रदर्शन का सभापतित्व समरबहादुर यादव ने किया। सभा का संचालन शाखा मंत्री प्रियंकर मिश्रा द्वारा किया गया।

यह है मोर्चा की मांगें

मोर्चा की मांग है कि मृतक आश्रितों को नियमित नियुक्ति प्रदान की जाए। परिवहन निगम अधिकारियों व कर्मचारियों के विरुद्ध सेवानिवृत्ति के चार वर्ष उपरांत तक फर्जी शिकायत पर कोई कार्रवाई न की जाए। उनका यह भी कहना था कि राज्य सरकार यदि किसी वृहद्ध नीति के तहत यात्री सड़क परिवहन क्षेत्र में निजी निवेशकों को प्रोत्साहित करना चाहती है। अथवा निजीकरण के माध्यम से सेवायोजन के अवसर विकसित करने के नाम पर कोई मॉडल स्थापित करना चाहती है तो इसे पूर्व की भांति राजकीय रोडवेज घोषित किया जाए। उन्होंने कहा कि परिवहन विभाग के अस्तित्व को बचाने व 55 हजार कर्मचारी व अधिकारियों के भविष्य की सुरक्षा को लेकर मोर्चा संघर्ष जारी रखेगा। माँगें पूरी नहीं होने पर आंदोलन की भी चेतावनी दी।

सभा में सहायक क्षेत्रीय प्रबन्धक ए0के0 सिंह, सी0फो0 अजय कुमार सिंह, अध्यक्ष समरबहादुर यादव, मंत्री दयापाल, पप्पू, अरविन्द कुमार, छोटेलाल, शम्भू, कैलाश यादव, बृजेश कुमार सिंह, प्रदीप कुमार सिंह, गौतम तिवारी, विजय प्रताप सिंह, महेन्द्र यादव, अनिता, रामबाबू, संदीप सिंह एवं अन्य कर्मचारीगण उपस्थित थे ।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!