प्रधानमंत्री ने किया गुरमुरा निवासी फूलपत्ती देवी से वर्चुअल संवाद

आनंद चौबे/अंशु खत्री (संवाददाता)

देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वीडियो कांफेंसिंग के माध्यम से विन्ध्य क्षेत्र के जनपद सोनभद्र व मीरजापुर की 23 ग्रामीण पाईप लाईन परियोजनाओं का शिलान्यास किया। इसके बाद प्रधान मंत्री जी ने सोनभद्र जिले के एनआरएलएम समूह की गुरमुरा निवासी फूलपत्ती देवी से वर्चुअल संवाद किया। प्रधान मंत्री जी ने फूलपत्ती देवी की हौसला अफजाई करते हुए कोरोना काल में फूलपत्ती व उनके टीम द्वारा कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए भारी संख्या में मास्क बनाकर उपलब्ध कराने की तारीफ की। उन्होंने ग्रामीण पाईप पेयजल परियोजना के शिलान्यास के बाद योजना के पूरा होने पर शुद्ध पेयजल की उपलब्धता व महिला जागरूकता पर बल दिया। उन्होंने पानी बचाने व शुद्ध पेयजल के उपयोग करने पर बल दिया।
प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी ने जन कल्याण के लिए चलायी जा रही विभिन्न योजनाओं पर विस्तार से प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि जीवन की बड़ी समस्या जब हल होने लगती है, तो अपने-आपमें एक विश्वास जागृत होने लगता है, जिस प्रकार से विन्ध्य क्षेत्र के लोगों में उत्सव की उत्साह देखने को मिल रहा है। यह योजना का मूल्य बढ़ाने के प्रति संवेदना देखने को मिल रहा है। सरकार समस्याओं को समझती है और प्रयास भी कर रही है। मॉ विन्ध्यवासिनी का विशेष कृपा है, जो लाखों परिवारों के भलाई के लिए शुद्ध पेयजल की योजना का शुभारंभ हो रहा है, ‘‘नल से जल हर घर ‘‘ पहुंचाने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्य मंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोनभद्र जिले के धंधरौल बॉध के करमांव गांव में उपस्थित होकर पूरी टीम के साथ जो प्रयास किया है, वह प्रशंसीनय है। प्रधान मंत्री ने मुख्य मंत्री योगी आदित्यनाथ, भारत सरकार के जल शक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत, प्रदेश सरकार के जल शक्ति मंत्री डॉ0 महेन्द्र सिंह, जिले के प्रभारी मंत्री डॉ0 सतीश चन्द्र द्विवेदी के साथ ही सांसद, विधायकगण के साथ ही वर्चुअल रूप से जुड़े सभी की तारीफ करते हुए आभार व्यक्त किया और कहा कि उत्तर प्रदेश की गर्वनर श्रीमती आनन्दी बेन पटेल के साथ ही सरकारी अमले से जुड़ें अधिकारी व कर्मचारी भी प्रशंसा के पात्र हैं। उन्होंने सभी नागरिकों का अभिनंदन करते हुए कहा कि विश्वास, पवित्रता, आस्था का केन्द्र बिन्दु विन्ध्य क्षेत्र रहा है। उन्होंने रहीमदास के श्लोकों का उल्लेख करते हुए विस्तार से प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि विन्ध्याचल क्षेत्र मॉ गंगा के साथ ही अन्य महत्वपूर्ण नदियों का क्षेत्र है। प्राकृतिक संसाधनों से परिपूर्ण होने के बाद भी विन्ध्य क्षेत्र सूखा से प्रभावित होता रहा है। विन्ध्याचल क्षेत्र की इस बड़ी समस्या को दूर करने का काम किया जा रहा है। उन्होंने वर्चुअल रूप से शुभारंभ के बाद अपने सम्बोधन में स्व0 सोनेलाल पटेल के जीवन संघर्षों की भी सराहना की और कहा कि विन्ध्य क्षेत्र के 3 हजार गांवों के 42 लाख लोगों का जीवन शुद्ध पेयजल से बदलेगा। उन्होंने कहा कि जल की व्यवस्था कोरोना काल होने के बावजूद भी किया जा रहा हैं। उत्तर प्रदेश की छवि मुख्य मंत्री व उनकी टीम के मेहनत से बदल रही है। उत्तर प्रदेश के मुख्य मंत्री ने कई योजनाओं के लिए काफी मेहनत किया है, जिसके वे बधाई के पात्र हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 2 करोड़ 60 लाख परिवारों को नल से पानी पहुंचाने का काम चल रहा है। हर घर तक शुद्ध पानी पहुंचाने का किया जायेगा। अटल भू-जल योजना के तहत भू-जल को बढ़ावा देने का काम हो रहा है। उन्होंने कहा कि जल जीवन मिशन के तहत हर घर नल से जल पहुंचाने से आम नागरिक व गरीब परिवारों का बीमारी से बचाव होगा। इस योजना से इंसान के साथ ही पशु भी स्वस्थ्य रहेंगें। उत्तर प्रदेश में योगी सरकार का प्रयास अच्छा है। अच्छे कार्यों से उत्तर प्रदेश सरकार को जनता से बहुत आशीर्वाद मिलता रहेगा। शुद्ध पानी से बेहतर स्वास्थ्य भी होगा। स्वराज की शक्ति को ग्रामीणजन को मजबूत माध्यम बनाया जाय। जल जीवन मिशन के माध्यम से पानी देने के साथ-साथ अनुरक्षण के लिए भी गांव वासियों की भूमिका अहम है। नागरिकों के विकास के लिए जल जीवन मिशन के अलावा प्रधान मंत्री आवास आदि से आच्छादित किया जाय। उन्होंने आत्म निर्भर गांव पर बल दिया और कहा कि इससे स्थानीय स्तर पर उत्पादन व रोजगार को बढ़ावा मिलता है। गांव में रहने वाले आदिवासियों को वर्तमान सरकार ने सुविधाएं दी हैं। उन्होंने महिलाओं की सुरक्षा पर प्रकाश डालते हुए कहा कि पहले जहॉ महिलाएं खाना पकाने में धुआ से परेशान होती थी, वहीं स्वच्छ इंर्धन यानी एलपीजी गैस व चुल्हा उपलब्ध कराकर महिलाओं के स्वास्थ्य पर ध्यान दिया है। उन्होंने कहा कि विन्ध्य क्षेत्र में सौर ऊर्जा की व्यवस्था भी की गयी है। उन्होंने कहा कि हमारा अन्नदाता ऊर्जादाता भी बने, इसके लिए विन्ध्य क्षेत्र के विकास का हर संभव प्रयास किया जाय। विकास कार्य तेजी से चल रहे हैं, गांव में विकास की कमी नहीं है, पीढ़ी दर पीढ़ी रहने के बावजूद भी कानूनी कागज गरीबों के पास नहीं थे, जिसका समाधान स्वामित्व समाधान योजना के तहत घरौनी बनाकर पात्रों को सौंपी जा रही है। इससे गरीब व वंचित लोगों को मालिकाना हक मिला है। ‘‘सबका साथ, सबका विकास व सबका विश्वास ‘‘ के तहत देश के हर नागरिक का मंत्र बन चुका है। हर घर तक योजनाएं पहुंच रही हैं। अनुसूचित जनजाति के शिक्षा के लिए एकलब्य मॉडल स्कूलों की व्यवस्था की गयी है। हर आदिवासी ब्लाक स्तरों तक पढ़ायी के साथ ही हर योजनाएं कियाशील है। उन्होंने कहा कि अनुसूचित जनजाति के विकास के लिए डिस्ट्रिक्ट मिनिरल फण्ड की व्यवस्था की गयी है। उत्तर प्रदेश में 800 करोड़ की व्यवस्था है, जिससे सैकड़ों परियोजनाएं भी पूरी की जा चुकी है।
प्रधान मंत्री ने कहा कि अभी कोरोना का खतरा बना हुआ है, लिहाजा मास्क का उपयोग करें, सामाजिक दूरी बनाये रखें और बार-बार साबुन-पानी से हाथ धोने का काम करें। उन्होंने कहा कि कोरोना से बचने के लिए दिशा-निर्देशों का पालन करते रहना जरूरी है। ‘‘जब तक दवाई नहीं, तब तक ढिलाई नहीं‘‘।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!