जिलाधिकारी ने धान खरीद को लेकर की समीक्षा बैठक

फ़ैयाज़ खान मिस्बाही(ब्यूरो)

ग़ाज़ीपुर। जिलाधिकारी मंगला प्रसाद सिंह की अध्यक्षता में खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 में मूल्य समर्थन योजना अंतर्गत गतिमान धान खरीद की समीक्षा बैठक राईफल क्लब सभागार में आज सम्पन्न हुई। बैठक में समस्त क्रय संस्थाओ के जिला प्रबंधक / जनपद प्रभारी, समस्त क्षेत्रीय विपणन अधिकारी, समस्त धान क्रय केंद्र प्रभारी के साथ बैठक कर धान खरीद के सम्बन्ध में समीक्षा की गयी।बैठक में उन्होने केंद्रों पर खरीद कम होने पर गहरा रोष व्यक्त करते हुए निर्देश दिया कि समस्त क्रय केंद्र समय से खुले तथा केन्द्रो पर नियत समय पूर्वाहन 9 बजे से सायं 5 बजे तक केंद्र प्रभारी उपस्थित रहे। केंद्रों पर पारदर्शिता के साथ नियमित धान खरीद करते हुए केंद्र को आवंटित लक्ष्य की प्राप्ति कराना सुनिश्चित करें ।किसी भी केंद्र पर बिचौलियों/ दलाल सक्रिय न होने पाये अन्यथा की स्थिति में केंद्र प्रभारी के विरुद्ध कठोर कार्रवाई की जाएगी। यदि महिला के नाम पर पंजीकरण है तथा महिला स्वयं धान बेचने केंद्र पर आती है तो बिना नंबर के ही उसको वरीयता के आधार पर उनका धान क्रय किया जाये। प्रत्येक मंगलवार एवं शुक्रवार को लघु एवं सीमांत कृषकों की खरीद हेतु दिन आरक्षित हैं। मूल्य समर्थन योजना का लाभ अधिकाधिक किसानों तक पहुंचाने के लिए छोटे किसानों की खरीद वरियता के आधार पर किया जाये। 100 कुंतल से अधिक धान विक्रय करने वाले किसानों का सत्यापन उप जिलाधिकारी द्वारा अवश्य किया जाये। केंद्रों पर बड़े काश्तकार के धान की खरीद इस प्रकार किया जाए कि छोटे किसानों का हित प्रभावित ना हो। बड़े किसान की तौल चरणबद्ध तरीके से एकाधिक दिनों में की जाए तथा छोटे किसानों की तौल उसी दिन कर लिया जाये। उन्होने निर्देश दिया कि किसानों के साथ संवेदनशीलता पूर्वक व्यवहार करें तथा उनकी समस्याओं को दूर करते हुए उनकी धान खरीद करें। जिलाधिकारी ने कहा कि कृषक हित में जनपद के समस्त धान क्रय केंद्रों का राजस्व ग्रामों से सम्बद्धीकण जनपद स्तर पर मुक्त कर दिया गया है। किसान भाई अपनी सुविधा के अनुसार नजदीकी केंद्र पर अपना धान विक्रय कर सकते हैं। बैठक में जिलाधिकारी ने अनुपस्थित 4 नोडल अधिकारियों का एक दिन का वेतन रोके जाने का निर्देश दिया।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!