छठ व्रतियों ने दिया अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्य

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । भगवान सूर्य की उपासना के महापर्व छठ के तीसरे दिन नदी घाटों, तालाबों और अन्‍य जलाशयों में अर्घ्‍य देने व्रतियों का सैलाब उमड़ पड़ा।

अस्‍ताचलगामी सूर्य को अर्घ्‍य के देकर व्रतियों ने जहाँ अपने घर-समाज की खुशहाली की प्रार्थना की, वहीं सम्पूर्ण विश्व को कोरोना महामारी से जल्द से जल्द मुक्ति दिलाने की प्रार्थना की।

इस दौरान रामसरोवर तालाब घाट, अकड़हवा पोखरा, घुवास नहर सहित अन्य छठ घाटों पर हजारों की संख्या में श्रद्धालु उमड़ पड़े। वहीं गोरारी पोखरे के तट पर स्थित सूर्य मंदिर पर सैकड़ों श्रद्धालुओं ने अस्‍ताचलगामी सूर्य को अर्घ्‍य दिया। छठ के दौरान घाटों पर सुरक्षा व्यवस्था के भी पुख्ता इंतजाम किए गए थे, चप्पे-चप्पे पर पुलिसकर्मियों की ओर से निगरानी की जा रही थी। वहीं घाट पर हर तरफ छठ मैया के गीत गूंज रहे थे।

कल शनिवार को उगते सूर्य को अर्घ देकर पूजा संपन्‍न होगी। इसके पहले श्रद्धालुओं ने बुधवार को नहाय-खाय और गुरुवार को खरना पूजा किया।

महंगाई के सितम पर नहीं रुके भक्तों के कदम

एक तो कोरोना काल ऊपर से महंगाई की मार लेकिन लोक आस्था के महापर्व को लेकर बाजारों में भक्तों के कदम नहीं रुके हैं। सामानों के दाम आसमां पर है, फिर भी लोग सभी जरूरत के पूजा सामग्री की खरीदारी कर रहे हैं। शीतला मंदिर मंडी, नवीन मंडी समिति, रेलवे क्रॉसिंग, मार्किट समेत अन्य सभी बाजारों में छठ पर्व की खरीदारी करने के लिए भारी भीड़ उमड़ी।

पूजा से संबंधित खरीदारी कर रहे लोगों का कहना है कि मार्केट में छठ की पूजा सामग्रियों के दाम आसमां पर हैं, लेकिन क्या करें, छठ महापर्व साल में एक बार आता है। इसमें कोई कोर कसर नहीं छोड़ना चाहते हैं।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!