आखिर कब रुकेगा खदान हादसा, टीपर ने ले ली एक श्रमिक की जान

कृपा शंकर पांडेय (संवाददाता)

ओबरा । बुधवार की सुबह बिल्ली मारकुंडी खनन क्षेत्र में उस समय हड़कम्प मच गया जब एक खदान में टीपर की चपेट में आने से एक श्रमिक की मौत हो गई । मौत की खबर लगते ही पूरे खनन क्षेत्र हड़कम्प मच गया और देखते ही देखते चल रही अन्य खदाने भी बन्द होने लगी । खदान खदान मालिकों को पता था कि भले ही खदान परमिशन से चल रही हो मगर बवाल बढ़ा तो जांच की आंच उन पर भी आ सकती है। क्योंकि खदान के अंदर तो सभी की हालत एक जैसी है ।

उधर हादसे के बाद शव को तुरंत जिला अस्पताल पोस्टमार्टम हाउस भेजवा दिया । ताकि बवाल न बढ़ सके ।

जानकारी के अनुसार बिल्ली मारकुंडी खनन क्षेत्र स्थित एक पत्थर खदान में टीपर वाहन से 42 वर्षीय गिरीश पांडे पुत्र राधेश्याम देव पांडे निवासी रेक्सहवा डाला वाहन की दबकर मौके पर ही मौत हो गयी । घटना के बाद आनन-फानन में मौजूद लोगों ने तत्काल मृतक का शव को वाहन द्वारा मौके से हटा दिया और जीका अस्पताल पोस्टमार्टम हाउस भेजवा दिया । घर वालों का भी यही आरोप था कि शव को आखिर बिना परिजनों को सूचना दिए मौके से क्यों हटाया गया । पोस्टमार्टम हाउस पहुंचे परिजन काफी नाराज दिख रहे थे । घर की महिलाओं का भी रो-रो कर बुरा हाल था । बहरहाल बुधवार से छठ की शुरुआत हो रही है और आज इस तरह की घटना ने एक परिवार की सारी खुशियां छीन ली है ।

अब देखने वाली बात यह है कि खदान में मौत की जानकारी के बाद पहुंचे ओबरा थाना प्रभारी शैलेश राय जांच में क्या रिपोर्ट लगाते हैं । लेकिन बड़ा सवाल यह है कि आखिर खदानों में मजदूरों के मौत का सिलसिला कब रुकेगा ।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!