नहाय-खाय के साथ छठ महापर्व शुरू

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

दीपावली के बाद सूप, दउरी, मिट्टी के बर्तन और फलों की खरीदारी के लिए बाजार में रौनक

सोनभद्र । सूर्योपासना का महापर्व डाला छठ की शुरूआत आज से नहाय खाए के साथ शुरू हो गया। श्रद्धालु स्नान ध्यान कर डाला छठ के व्रत का संकल्प लिया। अत्यंत शुद्धता पूर्वक चावल, चने की दाल, लौकी की सब्जी तैयार कर उसका भोग लगाया। गुरुवार को खरना है।

लोक आस्था का महापर्व डाला छठ की शुरूआत आज से हो गयी। खरीदारी के लिए बाजार पूरी तरह सज गए हैं। जगह-जगह फलों की दुकानें भी सज गई हैं। बाजार में सर्वाधिक खरीदारी सूप, दउरी की हुई। पिछले वर्ष के मुकाबले सूप, दउरी की कीमतों में दस से पंद्रह प्रतिशत की वृद्धि हुई है। हल्की बारिश के बाद भी लोग घरों से बाहर निकल खरीदारी करते देखे गए।

बताते चलें कि विभिन्न हिंदू शास्त्र-पुराणों में छठ पर्व को लेकर तमाम कथाएं प्रचलित हैं। मान्यता है कि जो भी श्रद्धालु इस महाव्रत को निष्ठा भाव से विधिपूर्वक संपन्न करता है वह संतान सुख से कभी अछूता नहीं रहता और न केवल संतान की प्राप्ति होती है बल्कि उसके सारे कष्ट भी समाप्त हो जाते हैं। वहीं मार्कण्डेय पुराण के मुताबिक छठ देवी भगवान सूर्यदेव की बहन हैं और उन्हीं को प्रसन्न करने के लिए सूर्य की आराधना गंगा-यमुना या पवित्र नदी किनारे पूजा की जाती है।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!