प्रशासन बेसुध, विंढमगंज छठ घाट पर कुडों का लगा अम्बार

धर्मेन्द्र गुप्ता (संवाददाता)

-संबंधितो के उदासीनता के कारण बीते रविवार से हीं सन क्लब सोसायटी के लोग कर रहे है श्रमदान से सफाई का कार्य
विंढमगंज। स्थानीय थाना क्षेत्र के अंतर्गत निरंतर बहने वाली सतत वाहिनी नदी के तट पर जिले का सबसे बड़ा छठ पूजा स्थल पर वर्तमान समय में कूड़ा करकट के अंबार से पटा हुआ है जबकि मुख्यमंत्री के निर्देशों के अनुसार हर जगह छठ घाट पर साफ सफाई की व्यवस्था व संबंधित अधिकारियों के निगरानी में हो रही है। परन्तु सोमवार तक इस छठ घाट पर ना तो सफाई हेतु कोई काम हो रहा है और ना ही किसी संबंधित अधिकारियों का ही निरीक्षण हेतु आवागमन हुआ है,जिससे लोगों में काफी आक्रोश है। छठ पर्व पर सबसे बड़े आयोजन होने के कारण पहले तो स्वयं जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक इस घाट पर आकर व्यवस्था का जायजा लेते थे।लेकिन इस बार इस घाट की कोई सुध नहीं ले रहा है ।सन क्लब सोसायटी के अध्यक्ष राजेश कुमार गुप्ता के नेतृत्व में बीते रविवार से ही छठ घाट व नदी की साफ-सफाई प्रारंभ कर दिया गया है ।अध्यक्ष राजेश कुमार गुप्ता ने मौके पर कहा कि जिले का सबसे बड़ा छठ घाट पर पर्व मनाने वाली माता एवं बहनों की तादाद ज्यादा रहती है। वहीं इस घाट पर पूर्व में जिले के जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक महोदय का भी आगमन समय-समय पर निरीक्षण करने हेतु हुआ करता था तथा इस घाट पर मंत्री, विधायक, सांसद व बड़े-बड़े नेताओं का भी जमावड़ा हुआ करता था परंतु इस वर्ष महापर्व पर छठ घाट की साफ सफाई व व्यवस्था का निरीक्षण करने अभी तक कोई भी संबंधितो ने दौड़ा नहीं किया

जो काफी दुख की बात है। और तो और विकास खंड दुध्दी से भी हर वर्ष सफाई कर्मियों का एक जत्था लगाकर साफ-सफाई भी खंड विकास अधिकारी के द्वारा कराया जाता रहा है ,वह भी इस वर्ष नहीं लगाया गया जिससे हम सभी सन क्लब सोसायटी के लोग शासन प्रशासन के द्वारा छठ घाट की साफ सफाई के प्रति नकारात्मक रवैए को देखते हुए स्वयं से विशाल छठ घाट व घाट से निरंतर बहने वाली सतत वाहिनी नदी की साफ-सफाई में खुद लग गए हैं ।इस मौके पर प्रभात कुमार, रमेशचंद्र एडवोकेट ,वीरेंद्र कुमार ,राजकमल मद्धेशिया, गप्पू हलवाई ,डीसी मद्धेशिया, शंकर मद्धेशिया ,राजन ,महेंद्र प्रसाद, सुशांत मौर्या, हर्षित चंद्रवंशी, अमित चंद्रवंशी, अमरेश केसरी सहित दर्जनों लोग साफ सफाई की व्यवस्था में लगे हुए हैं।ज़



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!