सपा ने शुरू किया 2022 चुनाव की रणनीति पर काम, अखिलेश ने शिवपाल की पार्टी से गठबंधन करने के दिये संकेत

बिहार चुनाव से सबक लेते हुए समाजवादी पार्टी (एसपी) के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने 2022 यूपी चुनाव के लिए अभी से रणनीति पर काम करना शुरू कर दिया है । उन्होंने अपने चाचा शिवपाल सिंह यादव की प्रगतिशील समाजवादी पार्टी से गठबंधन के संकेत देते हुए कहा है कि अगर मिलकर चुनाव लड़े और स्थिति बनी तो चाचा शिवपाल को कैबिनेट मंत्री बनाएंगे ।

अखिलेश यादव ने स्पष्ट करते हुए कहा है कि चुनाव पूर्व सभी छोटी पार्टियों को साथ लेने की कोशिश की जाएगी । उन्होंने स्पष्ट कर दिया है कि वो यूपी चुनाव के लिए बीएसपी समेत किसी भी बड़ी पार्टी से गठबंधन नहीं करेंगे ।

गौरतलब है कि सपा ने 2017 का यूपी विधानसभा चुनाव कांग्रेस के साथ मिलकर लड़ा था, बावजूद इसके पार्टी का प्रदर्शन काफी निराशाजनक रहा था । अब जबकि हाल ही में कांग्रेस ने आरजेडी के साथ मिलकर बिहार में अच्छा प्रदर्शन नहीं किया है तो गठबंधनों में कांग्रेस की भूमिका पर भी काफी चर्चा हो रही है । इस बीच अखिलेश यादव ने साफ कर दिया है कि वो किसी बड़े दल के साथ मिलकर चुनाव नहीं लड़ेंगे ।

शिवपाल यादव की पार्टी से भी गठबंधन को लेकर एसपी अध्यक्ष ने कहा, ‘उनकी पार्टी को भी एडजेस्ट करेंगे । जसवंतनगर उनकी (शिवपाल) सीट है ।समाजवादी पार्टी वह सीट उनके लिए छोड़ देगी और मिलकर सरकार बनी तो उनके नेता को कैबिनेट मंत्री भी बना देंगे… और क्या एडजस्टमेंट चाहिए?’

बिहार चुनाव परिणाम को लेकर अखिलेश यादव ने कहा कि लोकतंत्र में इतना बड़ा धोखा किसी के साथ नहीं हुआ होगा, जितना बीजेपी ने वहां के लोगों के साथ किया है । उन्होंने कहा कि बीजेपी ने महागठबंधन को बेईमानी से हराया है ।

यूपी में हुए उपचुनावों में एसपी की हार पर अखिलेश यादव ने कहा कि हम हारे नहीं । उन्होंने कहा कि जब चुनाव वहां के डीएम, एसपी, सीओ और सिपाही लड़ेंगे तो कौन जीतेगा? वहां चुनाव भाजपा नहीं लड़ रही है, उनकी सरकार के जितने भी अधिकारी हैं वे चुनाव लड़ रहे हैं ।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!