17 नवंबर को पीस पार्टी करेगी एक दिवसीय धरना प्रदर्शन

घनश्याम पांडेय/विनीत शर्मा(संवाददाता)

चोपन। 4000 उर्दू शिक्षकों की भर्ती को लगभग 4 साल हो गए।कोर्ट के आदेश के बाद भी योगी सरकार उर्दू शिक्षकों की नियुक्ति नहीं दे रही है। धरना, प्रदर्शन, आंदोलन, ज्ञापन, मंत्री, उप मुख्यमंत्री, मुख्यमंत्री, प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति तक उर्दू शिक्षक अपनी गुहार लगा चुके है। लेकिन उत्तर प्रदेश सरकार कोर्ट के आदेश के बावजूद नियुक्ति देने को तैयार नहीं है। इस बाबत पीस पार्टी के जिलाध्यक्ष अतहर कुरैशी ने बताया कि अब पीस पार्टी उर्दू शिक्षकों की लड़ाई लड़ेगी और उन्हें न्याय दिलाएगी। इस क्रम में 17 नवंबर 2020 को उत्तर प्रदेश के सभी जिले में जिलाधिकारी के माध्यम से राज्यपाल को एक दिवसीय धरना प्रदर्शन के बाद ज्ञापन दिया जाएगा। अगर पीस पार्टी की मांग नहीं मानी गई और उर्दू शिक्षकों को 1 माह के अंदर नियुक्ति नहीं दी गई तो समस्त उत्तर प्रदेश में पीस पार्टी आंदोलन करने को बाध्य होगी।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!