इंजीनियर हमीद सेतु की मरम्मत कार्य में जुटे

फ़ैयाज़ खान मिस्बाही (ब्यूरो)

गाजीपुर . हमीद सेतु के ज्वाईंटर में आई खराबी के बाद दो पहिया वाहनों को छोड़ सभी तरह के वाहनो के पुल से होकर आने-जाने पर रोक लगाए जाने के बाद से राहगीर पैदल ही पुल से आने-जाने को मजबूर हैं।
वहीं पुल की मरम्मत के लिए गुजरात की शिवम कांक्रिट कांसुल्टेंसी कंम्पनी के इंजीनियर पराग पटेल अपने दर्जनों कर्मियों व साजो-समान के साथ मौके पर पहुंचकर मरम्मत में जुट गए हैं। एनएचएआई वाराणसी के इंजीनियर सुरेश पाल की देख-रेख में दोपहर करीब 11 बजे ड्रिल मशीन से स्पैन में होल करने का काम शुरू कर दिया गया, जो करीब दो घंटों तक चलता रहा। इसके बाद गटर बाक्स में सपोर्टिंग सिस्टम के एर्जेस्टमेंट का काम शुरू कर टाप-अप स्पैन की लिफ्टिंग में कर्मी जुट गये हैं।
कर्मियों की माने तो मरम्मत का काम तीन से चार दिन के अन्दर पूरा कर लिया जायेगा।स्पैन के लिफ्टिंग का काम हाईड्रोलिक प्रेशर जैक के सहारे किया जाना है। रबर नुमा प्लेटनेस वैयरिंग लगाने से पहले पेडिस्टल कास्टिंग के उपरान्त ही प्लेट नुमा वेयरिंग सेट करने के उपरान्त पुल को वाहनों के लिए एन एच ए आई की रिपोर्ट पर आलाधिकारियों के द्वारा खोला जा सकता है,जहां तक सेतु दोनों ज्वाईंटरों के पूर्ण मरम्मत का सवाल है उम्मीद है कि आगामी 20 नवम्बर तक यह कार्य पूरा कर लिया जायेगा, वहीं विभाग की माने तो यह पुल फिलहाल भारी वाहनों के लिए वर्जित रहेगा।
इस मामलें में मरम्मत में जुटे गुजरात के इंजीनियर पराग पटेल ने बताया कि मरम्मत काम शुरू कर दिया गया है जिसके जल्द पूरा होने की उम्मीद है। इसके उपरांत जिला प्रशासन को यह निर्णय लेना है कि पुल को वाहनों के लिए कब खोला जायेगा।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!