प्रदूषण रोकने के लिए दुनिया के आधुनिकतम तकनीकी वाले संयत्र का होगा उपयोग- डॉ0 के0वी0 रेड्डी

संजय केशरी (संवाददाता)

सोनभद्र । मेसर्स अल्ट्राटेक सीमेन्ट लिमिटेड-यूनिट डाला सीमेन्ट वर्क्स एकीकृत संयन्त्र का विस्तार, क्लिंकर 02 से 03.5 मिलियन टन प्रतिवर्ष, सीमेन्ट 0.5 से 3.5 मिलियन टन प्रतिवर्ष, कैप्टिव पावर प्लांट 27 से 30 मेगावाट, 13 मेगावाट, डब्लूएचआरएस की स्थापना व सीमेन्ट संयन्त्र क्लिंकर 3.5 मिलियन टन प्रतिवर्ष और सीमेन्ट 5 मिलियन टन प्रतिवर्ष, डब्लूएचआरएस 17 मेगावाट तथा डी0सी0 सेट्स 1250 केवीए की दो ईकाई की स्थापना “लोक सुनवाई” ग्राम कोटा वार्ड न0 -01 चौरी टोला पानी टंकी के पास जिलाधिकारी एस0 राजलिंगम व अपर जिलाधिकारी योगेन्द्र बहादुर सिंह की मौजूदगी में सम्पन्न हुई। लोक सुनवाई में स्थानीय नागरिकों व गणमान्य जनो के विचारों व स्थानीय मॉगों को सुना गया और नियमानुसार पर्यावरणीय मानकों को पूरा करते हुए स्थानीय सुविधाओं को ध्यान रखने के साथ सहमति बनी।

“लोक सुनवाई” में जिलाधिकारी एस0 राजलिंगम ने उद्योग लगाये जाने के क्रम में पर्यावरणीय मानकों को पूरा करने के सम्बन्ध में मेसर्स अल्ट्राटेक सीमेन्ट लिमिटेड-यूनिट डाला द्वारा किये जा रहे कार्यो के बारे मेंं विस्तृत रूप से जानकारी प्राप्त करते हुए जिला प्रशासन की ओर से पर्यावरणीय मानकों को अक्षरशः पूरा करते हुए अनापत्ति प्रमाण-पत्र दिये जाने के सम्बन्ध में शुभ कामनाओं के साथ कहा कि उद्योग अथवा उद्योग से सम्बन्धित अन्य घटकों के स्थापित होने से निश्चित रूप से रोजगार के अवसर बढ़ेंगे, जिसका फायदा स्थापित होने वाले उद्योग क्षेत्र की जनता को प्रत्यक्ष एवं परोक्ष रूप से जरूर मिलेगी।

“लोक सुनवाई” मेसर्स अल्ट्राटेक सीमेन्ट लिमिटेड-यूनिट डाला के इंचार्ज राहुल सहगल, एचआर हेड डा0 के0वी0 रेड्डी कार्पोरेट हेड रमेश ओझा, रमेश चंन्द्र पाडेय, मो0 मोइनुद्दीन, कर्नल एमरवि राव द्वारा पर्यावरण संतुलन की दृष्टि से कराये जा रहे कार्यों और मेसर्स अल्ट्राटेक सीमेन्ट लिमिटेड-यूनिट डाला सीमेन्ट वर्क्स एकीकृत संयन्त्र का विस्तार, क्लिंकर 02 से 03.5 मिलियन टन प्रतिवर्ष, सीमेन्ट 0.5 से 3.5 मिलियन टन प्रतिवर्ष, कैप्टिव पावर प्लांट 27 से 30 मेगावाट, 13 मेगावाट, डब्लूएचआरएस की स्थापना व सीमेन्ट संयन्त्र क्लिंकर 3.5 मिलियन टन प्रतिवर्ष और सीमेन्ट 5 मिलियन टन प्रतिवर्ष, डब्लूएचआरएस 17 मेगावाट तथा डी0सी0 सेट्स 1250 केवीए की दो ईकाई की स्थापना स्थापित किये जाने के सम्बन्ध में कराये जाने वाले पर्यावरणीय कार्य योजनाओं को पेश किया गया।

जिस पर मौके पर मौजूद भारी संख्या में स्थानीय जनो,प्रबुद्ध नागरिकों, मीडिया के पदाधिकारियों, जिले/डाला आदि क्षेत्र के नागरिकांं ने सहमति व्यक्त की। “लोक सुनवाई” में क्षेत्रीय अधिकारी उ0प्र0 प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड राधेश्याम द्वारा उद्योग स्थापित करने के सम्बन्ध में पर्यावरणीय मानकों को विस्तार से प्रस्तुत किया गया। जिस पर मौके पर मौजूद यूनिट हेड राहुल सहगल आदि द्वारा जिला प्रशासन के पदाधिकारियों साथ ही उपस्थिति गणमान्य जनों को पूरा भरोसा दिलाया गया कि मेसर्स अल्ट्राटेक सीमेन्ट लिमिटेड-यूनिट डाला सीमेन्ट वर्क्स द्वारा पर्यावरणीय मानकों को पूरा करते हुए जिले के अधिकाधिक स्थानीय नागरिकों को रोजगार के अवसर मुहैया करायें जायेंगे।

“लोक सुनवाई” में जहॉ जिला प्रशासन, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, मेसर्स अल्ट्राटेक सीमेन्ट लिमिटेड-यूनिट डाला सीमेन्ट वर्क्स द्वारा विस्तार से जानकारी दी गयी, वहीं नरेन्द नीरव, सुरेन्द कुमार जायसवाल, इन्द्रेश उपाध्याय, ओम प्रकाश शर्मा, दीपू शर्मा, राजेश गुप्ता, तपेश्वर तिवारी, मनीष तिवारी, प्रीति श्रीवास्तव, सुभाष पाल आदि स्थानीय नागरिकों व गणमान्यजनों ने मेसर्स अल्ट्राटेक सीमेन्ट लिमिटेड-यूनिट डाला सीमेन्ट वर्क्स की नई इकाईयों को स्थापित किये जाने की सहमति व्यक्त की ताकि, रोजगार के अवसर बढ़ें और सोनभद्र जिला के नागरिक खुशहाली की ओर अग्रसर हो सके।

“लोक सुनवाई” में उपजिलाधिकारी ओबरा प्रकाशचंन्द्र, पुलिस क्षेत्राधिकारी राम प्रताप त्रिपाठी, खान अधिकारी मो0 महबूब,क्षेत्रीय अधिकारी उ0प्र0 प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड राधेश्याम, सहित भारी संख्या में जिले के, प्रबुद्ध नागरिकगण, मीडिया के पदाधिकारीगणों के साथ ही जिले/डाला आदि क्षेत्र के भारी संख्या में नागरिक मौजूद रहे।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!