शिकारियों पर वन विभाग नहीं कस पा रहा शिकंजा

संजीव कुमार पांडेय (संवाददाता)

राजगढ़ । सर्दी के मौसम में वन्य जीवों का शिकार करने वालों की होड़ मच जाती है। इनको बचाने के लिए वन विभाग की ओर से जो तैयारी की गई हैं वह नाकाफी है। विभाग शिकारियों को रोकने में विफल रहा है। यह आरोप क्षेत्र के लोगों ने लगाते हुए बताया कि विभाग द्वारा शिकार करने वालों के खिलाफ जागरूकता कैंप का आयोजन करना चाहिए ,लेकिन ऐसा कुछ नहीं किया जाता है।

क्षेत्रीय लोगों ने बताया कि सुकृत वन रेंज के भवानीपुर वन चौकी क्षेत्र का एक बड़ा भू-भाग वन्य क्षेत्र से ढका हुआ है। भवानीपुर से सुकृत तक के क्षेत्र में कई वन्य प्रजातियों के जीव जंगल में विचरते हैं। सर्दी का मौसम शुरू होते ही कई शिकारी इस क्षेत्र में सक्रिय हो जाते हैं। शिकारी सबसे ज्यादा निशाना जंगली सुअर को बनाते हैं। इसके बाद राष्ट्रीय पक्षी मोर और खरगोश को मार दिया जा रहा है। बंदूक के अलावा जाल या फंदे में फंसाकर भी इन प्राणियों की जान ली जाती है। शिकारी वन जीवों के शिकार के लिए नए तौर-तरीके अपना रहे हैं। शिकारी करते हैं।
देशी बम का इस्तेमाल-

राजगढ़ के भवानीपुर रेंज में शिकारियों ने दो माह पूर्व खाद्य सामग्री में देशी बम रख दिया था, जिसके खाते ही सूकर का मुंह बुरी तरह से फट गया था और कुछ ही देर में वह मर गया था। इसकी सूचना ग्रामीणों ने वन विभाग को दी थी लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई थी। पिछले वर्ष निकरिका जंगल में शिकारियों ने दस फीट के अजगर को मार दिया था।

राजेंद्र प्रसाद श्रीवास्तव, वन रेंजर ने बताया कि शिकारियों को पकड़े जाने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।हालांकि शिकारियों के मद्देनजर प्रतिदिन रात में जंगलों में कांबिग भी की जाएगी।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!