पूर्व मंत्री ने सपा पदाधिकारियों के साथ नगवां में चौपाल लगाकर सुनी आदिवासियों की समस्याएं

रमेश यादव (संवाददाता)

– आदिवासियों की कब्जे की भूमि अधिग्रहण करना उचित नहीं

– धारा 20 की भूमि पर आदिवासियों का अधिकार, उन्हें नही होने दिया जायेगा बेदखल

दुद्धी। ब्लाक क्षेत्र के नगवां गांव में आज रविवार को समाजवादी पार्टी के पदाधिकारियों ने क्षेत्र भ्रमण के दौरान ग्रामीणों की समस्याएं सुनी। भ्रमण के दौरान नगवां चौराहा प्राथमिक विद्यालय के समीप चौपाल लगाकर धारा 20 की जमीन पर हो रहे कब्जे को लेकर चर्चा किया गया। चौपाल के दौरान नगवां गांव के निवासी राजनारायण खरवार, रामनारायण खरवार, धनुकधारी खरवार, सोनू सिंह खरवार सहित दर्जनों ग्रामीणों ने अपनी समस्याओं को रखते हुए बताया कि नगवां गांव के कांनागड़ा टोला में आदिवासी के धारा 20 के कब्जे वाले जमीन पर सिचाई विभाग द्वारा जमीन अधिग्रहण किये जा रहे हैं। जो गांव के दर्जनों किसानों का जमीन है। कालोनी बनाये जाने वाले जगह का कभी पैमाइश भी नही किया गया है अभी तक और हमारे जमीन पर कब्जा कर लिया गया है।
चौपाल में आदिवासियों की समस्याओं को सुनने के बाद पूर्व मंत्री विजय सिंह गोंड़ ने कहा कि भाजपा और कांग्रेस की सरकार आदिवासी जनजातियों के अधिकारों का हनन कर रही हैं। गांव में दर्जनों ग्रामीणों का जमीन जबरजस्ती कब्जा किया गया है। इसकी पड़ताल कर जमीन को मुक्त कराने में लड़ाई लड़ी जाएगी। जो इस गांव में वनाधिकार कमेटी ने 383 दावा में मात्र 19 लोंगो को भूमि अधिग्रहण करने की अनुमति मिली वो भी विस्वा के हिसाब से अनुमति मिला है।यह समस्त मामला धारा 20 के मामले में विवाद हुए हैं। जबकि सत्ताधारी नेता इस गांव को गोद लिए पर कोई काम नही किये।गोद लिए गांव आज भी गोद में ही दिख रही है।

क्षेत्र भ्रमण के दौरान विधानसभा अध्यक्ष जुबेर आलम, वन समिति अध्यक्ष देव कुमार, बबई सिंह मरकाम, हरिशंकर यादव, गौस मु0 खान, दीपक जौहरी, नीरेंद्र सिंह गोंड़, धर्मजीत खरवार,जय कुमार,फुलकेश्वर खरवार, नेपाली,ईश्वर प्रसाद,बाबू लाल,लाल बहादुर सहित अन्य पार्टी कार्यकर्ता एवं ग्रामीण उपस्थित रहे।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!