अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव को लेकर सस्पेंस बरकरार, पूरे विश्व की टिकी है निगाह

अमेरिका का नया राष्ट्रपति कौन होगा, इसका जवाब मिलने का इंतजार बढ़ता जा रहा है । पहले लगा था कि राष्ट्रपति ट्रंप बाजी मार सकते हैं लेकिन अब डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार जो बाइडेन ने बढ़त ले ली है । अब नजर चार राज्यों पर हैं जिनके नतीजों में नए राष्ट्रपति का नाम छुपा है ।

अमेरिका का राष्ट्रपति बनने के लिए 270 इलेक्टोरल वोट पाने होते हैं। अभी डेमोक्रेट उम्मीदवार जो बाइडेन 253 इलेक्टोरल वोट के साथ आगे चल रहे हैं । वहीं, राष्ट्रपति और रिपब्लिकन उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप को अब तक 232 वोट मिले हैं । ये लड़ाई कांटे की है, लेकिन बाजी हाथ से फिसलती देख ट्रंप मतगणना में धांधली का आरोप लगा रहे हैं ।

सबकी निगाहें अमेरिका के चार राज्यों पर टिकी हैं, जिनकी गिनती से तय हो जाएगा कि सबसे ताकतवर देश का बिग बॉस कौन होगा । उन चार राज्यों में पेंसिलवेनिया और जॉर्जिया हैं जिनको रिपब्लिकन पार्टी का गढ़ माना जाता है । जबकि नेवाडा और एरिजोना को डेमोक्रेटिक पार्टी का ।

पेंसिलवेनिया में 20 इलेक्टोरल वोट हैं और जॉर्जिया में 16 । वहीं नेवाडा में 6 और एरिजोना में 11 वोट हैं । अब अगर डेमोक्रेट उम्मीदवार जो बाइडेन अपने प्रभुत्व वाले नेवाडा और एरिजोना जीत जाते हैं तो उनके पास 253 और 17 वोट जोड़कर 270 हो जाएंगे जो जीत का जादुई आंकड़ा है ।

दूसरी तरफ राष्ट्रपति ट्रंप को जीतने के लिए काफी मशक्कत करनी होगी । उनको अभी 38 वोटों की दरकार है जिसके लिए कम से कम पेंसिलवेनिया, जॉर्जिया और नेवाडा को जीतना होगा । तब उनके पास 280 वोट होंगे । ट्रंप को पेंसिलवेनिया और जॉर्जिया में गड़बड़ी का अंदेशा लग रहा है । पेंसिलवेनिया के मामले में ट्रंप की टीम सुप्रीम कोर्ट से भी गुहार लगा चुकी है । दूसरी तरफ बाइडेन भी कह रहे हैं कि हर जगह के वोटों की गिनती की जाए ।

इस बीच, राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट किया कि पेंसिलवेनिया में कानूनी जीत मिली है । उन्होंने कहा कि बाइडेन के दावे वाले राज्यों को हम कानूनी तौर पर चुनौती देंगे । हमारे पास सबूत हैं। हम जीतेंगे । अमेरिका फर्स्ट



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!