रामकरन सेतु पुल का ओवरलोड वाहनों के चलते निकला दम

फ़ैयाज़ खान मिस्बाही(ब्यूरो)

ग़ाज़ीपुर। सैदपुर गाजीपुर को चंदौली से जोड़ने के लिए गंगा नदी पर बना रामकरन सेतु पुल जगह-जगह क्षतिग्रस्त हो गया है। गड्ढा होने के साथ ही सरिया निकलकर बाहर आ रहा है जिसके चलते हादसे की भी आशंका बनी रहती है। पुल की गुणवत्ता पर तो सवाल नहीं उठ रहा है लेकिन पुल क्षतिग्रस्त होने के लिए लोग ओवरलोडेड वाहनों को जिम्मेदार मान रहे हैं।ओवरलोड वाहनों के गुजरने में लोग पुलिस की मिलीभगत भी मान रहे हैं। विभागीय उच्चाधिकारियों का ध्यान कई बार इस तरफ आकृष्ट कराने के बावजूद सुध नहीं ली जा रही है जिसके चलते बेरोकटोक ओवरलोडेड वाहन पुल से गुजर रहे हैं। रामकरन सेतु का शिलान्यास पूर्व लोक निर्माण मंत्री कलराज मिश्र ने किया था और लोकार्पण तत्कालीन सपा सरकार में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने किया। पुल का नाम सपा के वरिष्ठ नेता व पूर्व एमएलसी रहे रामकरन दादा के नाम पर रामकरन सेतु रखा गया। पुल पर हजारों की संख्या में प्रतिदिन वाहन गुजरते हैं।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!