शीतलहर एवं घरे कोहरे से बचाव हेतु तैयारी में जुटा प्रशासन

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । अपर जिलाधिकारी योगेन्द्र बहादुर सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि जनपद सोनभद्र अपनी भौगोलिक स्थिति के बारण घरे कोहरे एवं शीतलहर से प्रभावित होता है। माह दिसम्बर और जनवरी में जनपद में अधिक धुंध एवं कोहरा पड़ता है।

शीतलहर एवं घरे कोहरे के कारण जनपद के अधिकांश खेत्रों में सड़क दुर्घटनाओं की संम्भावनाएं बढ़ जाती है। ग्रामीणांचल में ठण्ड से बचने के लिए अलाव जलाया जाता परन्तु अलाव को सही तरह से न बुझाने से अनिग्कांड की स्थिति उत्पन्न होती है। उक्त के दृष्टगत होने वाली जन-धन की हानि को न्यून करने के लिए विभागवार कार्य ससमय पूर्ण कियाजाना अपेक्षित है।

उन्होंने बताया कि अधिशासी अभियन्ता, लो0नि0वि0/अधि0अधि0 न0पा0परि0/समस्त नं0पं0 द्वारा सड़क मरम्मत एवं अन्य कार्य सड़क पर बने गड्ढ़ों का मरम्मत कार्य तत्काल पूर्ण कराया जाये। साथ ही डिवाइडर की मरम्मत एवं मानक के अनुसार उसका रंग-रोगन का कार्य पूर्ण कराया जाय। विभिन्न प्रकार के सड़क की सतह का अंकन, गतिरोधक, आदि पर पेंटिंग का कार्य निर्धारित मान के अनुसार सुनिश्चित हो तथा अति संवेदनशी स्थान, जहॉ पर प्रायः दुर्घटनायें होती हैं, उन स्थानों को सूचीबद्ध कर दुर्घटना अवरोधक/रक्षात्मक कार्य पूर्ण करना सुनिश्चित करें।

मुख्य चिकित्साधिकारी द्वारा शीतलहर के कारण आम जन को अनेक प्रकार की बीमारियां होने की संभावना बढ़ जाती है। विशेषकर सर्दी-जुखाम, बुखार, पेट सम्बन्धी बीमारी आदि से बचाव के लिए समस्त पीएचसी/सीएचसी एवं जिला मुख्यालय पर आवश्यक दवाईयां उपलब्ध हों तथा स्वास्थ्य केन्द्रों को किसी भी प्रकार की घटना घटित होने पर 24 घंटे क्रियाशील रहने के लिए निर्देशित किया जाय।

मुख्य पशु चिकित्साधिकारी द्वारा पशुओं के बचाव शीतलहर में प्रायः पशुओं को विशेषकर नके बछड़ों को निमोनिया, डायरिया इत्यादि तथा टीकाकरण न होने के कारण खुरपका, मुंहपका बीमारी होने की सम्भावना बनी रहती है। पशुओं को सुरक्षित रखने हेतु टीकाकरण का कार्य नियमित रूप से संचालित किया जाय साथ ही पशु केन्द्रों पर आवश्यक दवाओं का भण्डारण सुनिश्चित हों। पशु चिकित्सकों के माध्यम से ग्रामीणों को पशुओं की सुरक्षा एवं शीतलहर से बचाव के लिए जागरूक किया जाय।

समस्त उप जिलाधिकारी/मुख्य अग्निशमन अधिकारी द्वारा प्रायः ग्रामीणांचल में ग्रामीणों द्वारा जलाये जाने वाले अलाव को ठीक ढंग से न बुझाने के कारण अग्निकाण्ड की घटनायें घटित हो जाती है। उक्त के दृष्टिगत अग्निशमन विभाग द्वारा मुख्यालय एवं तहसीलों में स्थापित उप केन्द्रों को आवश्यक संसाधनों सहत 24 घंटे क्रियाशील रखा जाये साथ ही लेखपाल के माध्यम से ग्राम स्तर पर बैठक आयोजित कर अग्नि से बचाव के लिए नागरिकों को जागरूक करें।

अधिशासी अधिकारीन नगर पालिका परिषद/समस्त नगर पंचायत द्वारा प्रकाश बिन्दुओं की मरम्मत- सड़कों एवं मोहल्लों में स्थापित प्रकाश बिन्दु जो।कि खराब व क्षतिग्रस्त हैं, उन्हें तत्काल ठीक करायें साथ ही निर्धारित समयानुसार उनके चालू एवं बन्द होने का कार्य सुनिश्चित करवाएं।

एआरएम उ0प्र0 रा0स0प0/सहायक सम्भागीय परिवहन अधिकारी द्वारा वाहन चेतावनी स्टीकर (रेडियम) समस्त वाहनों पर नारंगी रंग का चेतावनी स्टीक रेडियम लगवाना सुनिश्चित करें, जिससे कि वाहन के मध्य उचित दूरी बनी रहे तथा दुर्घटनाओं को न्यून किया जा सके।

समस्त उप जिलाधिकारी द्वारा अलाव एवं कम्बल का व्यवस्था शासन के सहयोग से महत्वपूर्ण सार्वजनिक स्थलों पर अलाव जलाने की व्यवस्था की जानी है ऐसे स्थलों को चिन्हित कर सूचीबद्ध कर लें, साथ ही अपने कार्य क्षेत्र में लेखपालों के माध्यम से स्वैच्छिक संगठनों व सामाजिक कार्य में रूची रखने वाले व्यक्तियों को चिन्हित करते हुए स्वेच्छा से आवश्यक स्थलों पर अलाव जलवाने तथा निराश्रितों को कम्बल वितरण के लिए प्रेरित करें।

अधिशासी अधिकारी, नगर पालिका परिषद/समस्त नगर पंचायत द्वारा रैन बसेरों की सफाई एवं आवश्यक संसाधन- विभाग द्वारा संचालित रैन बसेरों की सफाई एवं आवश्यक संसाधनों की व्यवस्था कराना सुनिश्चित करें, साथ ही यह भी सुनिश्चित करें कि समस्त रैन बसेरे गुणवत्तापूर्ण ढंग से 24 घंटे क्रियाशील रहें।

जिला विद्यालय निरीक्षक/जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी द्वारा विद्यार्थियों में जागरूकता-विद्यालयों में विद्यार्थियों को शिक्षकों के माध्यम से ठण्ड से बचाव के लिए किये जाने वाले उपायों, खान-पान के विषय में प्रशिक्षित व जागरूक किया जाये। साथ ही उक्त जानकारी पोस्टर इत्यादि के माध्यम से प्रदर्शित किया जाये।

उन्होंने उपरोक्त सम्बन्धित अधिकारियों को शीतलहर एवं घरे कोहरे से बचाव के लिए तैयारी कराना सुनिश्चित करें।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!