केराडीह माइनर की होगी मरम्मत-सफाई

विनोद कुमार (संवाददाता)
* किसान विकास मंच का संघर्ष रंग लाया
* बड़गावां, ठेकहां व शिवपुर के किसानों को मिलेगा लाभ

शहाबगंज।लेफ़्ट कर्मनाशा नहर से पचवनियाँ गांव से निकलीं केराडीह माइनर पिछले दो दशक से मरम्मत के अभाव में अपना अस्तित्व खोने के कगार पर पहुंच चुकी थी।लेकिन किसानों के हित के लिए लड़ रहे किसान विकास मंच के संघर्ष के वजह से उक्त माइनर की मरम्मत व साफ-सफाई बहुत ही जल्द होगी।जिससे पचवनियाँ, केराडीह,बड़गावां व शिवपुर के किसानों को लाभ मिलेगा।किसान विकास मंच के कार्यकर्ता व कलानी गाँव के किसान अशोक दुबे ने मुख्यमंत्री पोर्टल पर शिकायत कर उक्त माइनर को जल्द से जल्द मरम्मत व सफाई कराने की मांग की जिस पर सिंचाई विभाग के अधिशासी अभियंता ने नहर बन्द होने पर माइनर की मरम्मत टेल तक कराये जाने की स्वीकृति प्रदान कर दी है।उक्त माइनर की मरम्मत की जानकारी होने पर क्षेत्र के किसानों में हर्ष व्याप्त है।
उक्त माइनर की हालत वर्षों से बतदर है तथा झाड़-झंखाड़ से पूरी तरह से पट चुकी है।यहीं नहीं कहीं-कहीं तो माइनर खेत में विलीन हो चुकी है।किसानों को स्वयं माइनर की पटरी का निर्माण करना पड़ता है तब जाकर अपने खेतों की सिंचाई कर पाते हैं।टेल के किसानों को तो माइनर का पानी मिलना दूर की बात है पहले हेड के किसान ही पानी के लिए तरसते रहते हैं।किसानों को निजी साधन का ही उपयोग करना पड़ता है।अगर उक्त माइनर की मरम्मत हो जाती है तो किसानों को आसानी से पानी मिल जाएगा साथ ही आर्थिक नुकसान भी कम होगा।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!