श्री अचलेश्वर महादेव मंदिर के 53 वें स्थापना दिवस पर संगीत समारोह का किया आयोजित

संजय केसरी (संवाददाता)

डाला। श्री अचलेश्वर महादेव मंदिर के 53 वें स्थापना दिवस पर आयोजित संगीत समारोह में इस वर्ष डॉक्टर राम शंकर ने ख्याल गायन से शिव को स्वरांजलि अर्पित किया । सर्वप्रथम मास्टर प्रणव शंकर ने राग भोपाली में गणेश वंदना प्रस्तुत किया , तत्पश्चात डॉ राम शंकर ने राग यमन में विलंबित एक ताल में नीबद्ध मेरो मन बांध लिन्हो सुघर चतुर प्रिय सावरो गाया। डॉ राम शंकर शास्त्रीय संगीत के मूर्धन्य कलाकार पंडित रामाश्रय झा के सुयोग्य शिष्य है । गायन में बंदिशों के बोल तान और आलाप में गुरु और घराने की विशुद्ध झलक दिखी । डॉ राम शंकर ने राग बागेश्वरी हमीर एवं सरस्वती में नीबद्घ बंदिशे गाई एवम् समापन भजन से किया । इस कोरोना महामारी में बहुत दिनों से ऊबे हुए लोगों के लिए यह कार्यक्रम बहुत बड़े राहत की तरह था। अनलॉक के बाद जनपद में शास्त्रीय संगीत का यह पहला कार्यक्रम था, महामारी को मद्देनजर में रखते हुए मंदिर प्रांगण में लोगों को सैनिटाइज कर मास्क दिया गया , प्रत्येक वर्ष होने वाले श्री अचलेश्वर महादेव संगीत समारोह में हर वर्ष की अपेक्षा इस बार श्रोताओं की संख्या कम रखी गई थी। कार्यक्रम के समापन में फाउंडेशन के सचिव ने सभी कलाकारों एवम् श्रोताओं का आभार व्यक्त किया ।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!