गौशालाओं में सर्वाधिक पराली पहुंचाने वाले कृषकों व अधिकारियों को गौमित्र पुरस्कार से किया गया सम्मानित

दीनदयाल शास्त्री (ब्यूरो)

पीलीभीत । जिलाधिकारी पुलकित खरे द्वारा सोमवार को जनपद में प्रशासन द्वारा संचालित समस्त गौशालाओं में सर्वाधिक मात्रा में पराली पहुंचाने वाले कृषक, ग्राम प्रधान, ग्राम पंचायत अधिकारी, लेखपाल, खण्ड विकास अधिकारी, तहसीलदार एवं उप जिलाधिकारी को गौमित्र पुरस्कार से कलेक्ट्रेट कार्यालय पीलीभीत में सम्मानित किया गया। आयोजित कार्यक्रम में जिलाधिकारी द्वारा कृषक मलकित सिंह, कुलदीप सिंह, ग्यास खाॅ, झनकार सिंह व विकास, तहसीलदार अमरिया शेर सिंह, थानाध्यक्ष अमरिया उदयवीर सिंह, खण्ड विकास अधिकारी मृणाल सिंह अमरिया, डा0 विश्वास सिंह पशु चिकितसाधिकारी अमरिया, ग्राम प्रधान विलासपुर भगवानदास, लेखपाल अमरिया सोमपाल राना, सचिव विलासपुर कृष्ण मुरारी को गौमित्र प्रशस्ति पत्र प्रदान कर सम्मानित किया गया। आज आयोजित कार्यक्रम कृषक मलकित सिंह पुत्र हरीसिंह निवासी लाहोरगंज तहसील अमरिया में सबसे अधिक पराली 135 कुंतल, कृषक कुलदीप सिंह पुत्र मक्खन सिंह निवासी ग्राम सपहा तहसील कलीनगर में सबसे अधिक पराली 52.50 कुंतल, ग्यास खाॅ पुत्र रियाज खां निवासी ग्राम सिरसा सरदाह तहसील सदर पीलीभीत में सर्वाधिक पराली 145.30 कुंतल, झनकार सिंह पुत्र सरवन सिंह निवासी ग्राम सिंहपुर ताल्लुक चाॅदूपुर तहसील पूरनपुर में सर्वाधिक 70 कुन्टल पराली भेजी गई तथा कृषक विकास सिंह पुत्र राजेन्द्र कुमार सिंह निवासी दियोरिया कलां बीसलपुर तहसील द्वारा पराली 37 कुन्टल तथा सबसे अधिक पराली विलासपुर गौशाला विकास खण्ड व तहसील अमरिया में 1771 कुन्टल पहुंचाई गई। प्रत्येक सोमवार को इस सराहनीय कार्य हेतु कृषकों व अन्य अधिकारियों को सम्मानित किया जाएगा, किसानों द्वारा पास की गौशाला में पराली काटकर पहुंचाने पर कटाई व ढुलाई का भुगतान ग्राम पंचायत द्वारा किया जायेगा, इस सम्बन्ध में भी जागरूक किया जाये। शासन से प्राप्त निर्देशों के क्रम में जिलाधिकारी द्वारा जारी आदेशानुसार जिला प्रशासन द्वारा अभियान को सफल बनाये जाने हेतु ‘‘ पराली गौशाला पहुॅचाए, इनाम-सम्मान पाएॅ’’ कार्यक्रम प्रारम्भ किया गया, जिसमें यह निर्णय लिया गया है कि प्रत्येक सप्ताह प्रत्येक तहसील में जिन कृषकों के द्वारा प्रशासन द्वारा संचालित गौशालाओं में सर्वाधिक मात्रा में धान की पराली को पहुॅचाया जायेगा, उन कृषकों को सप्ताहिक रूप से ‘‘ गौमित्र पुरस्कार’’ से सम्मानित तथा जनपद स्तर पर जिलाधिकारी के द्वारा गौमित्र प्रशस्ति पत्र प्रदान कर सम्मानित किया जायेगा। साथ ही उक्त कृषक के परिवार को नियमानुसार उक्त उत्कृष्ट कार्य हेतु पात्रता के आधार पर अन्य समस्त सरकारी योजनाओं से लाभान्वित किया जायेगा। उक्त कार्य हेतु जनपद के समस्त उप जिलाधिकारी अपनी-अपनी तहसील क्षेत्रान्तर्गत प्रशासन द्वारा संचालित गौशालाओं में दैनिक रूप से किस कृषक के द्वारा कितनी पराली पहुॅचाई गयी का विवरण रखते हुये एवं सप्ताह के अन्त में किस गौशाला में किस किसान ने सर्वाधिक पराली पहुॅचाई, उस कृषक का नाम/पिता का नाम/पता एवं कुल पहुॅचाई गयी पराली की मात्रा निर्णीत करते हुये उक्त कृषक को जिलाधिकारी के द्वारा जनपद स्तर पर गौमित्र पुरस्कार से सम्मानित किया जायेगा। इसी प्रकार मासिक रूप से समस्त ब्लाक एवं तहसील क्षेत्रान्तर्गत प्रशासन द्वारा संचालित गौशालाओं में सर्वाधिक पराली पहुॅचाने वाले सम्बन्धित उप जिलाधिकारी/तहसीलदार एवं खण्ड विकास अधिकारियों को जिलाधिकारी के द्वारा गौमित्र पुरस्कार एवं प्रशस्ति पत्र से सम्मानित किया जायेगा।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!