नोडल अधिकारी द्वारा मिशन शक्ति के अन्तर्गत स्वयं सहायता समूहों की महिलाओं व किशोरियों को अधिकारों के प्रति किया गया जागरूक

दीनदयाल शास्त्री (ब्यूरो)

पीलीभीत । नवरात्रि के शुभ अवसर पर आज जनपद मिशन शक्ति का शुभारम्भ किया गया। इस अवसर पर जिलाधिकारी पुलकित खरे के निर्देशंन में महिलाओं एवं बालिकाओं की सुरक्षा, सम्मान एवं स्वावलंबन के लिए जनपद के समस्त आंगनबाडी केन्द्रों से जन जागरूकता रैली का आयोजन किया गया। आयोजित कार्यक्रम के अन्तर्गत जिलाधिकारी द्वारा दिये गये निर्देशों के क्रम में जनपद के समस्त उच्च/प्राथमिक विद्यालयों में महिलाओं से सम्बन्धित हेल्पलाइन नम्बर 181, वूमेन पाॅवर लाइन-1090, पुलिस आपातकालीन सेवा-112, मुख्यमंत्री हेल्पलाइन नं0 1076 व चाइल्ड हेल्प लाइन- 1098, स्वास्थ्य सेवा- 102, एम्बुलेंस सेवा 108 का अंकन किया जायेगा।
मिशन शक्ति की जनपद की नोडल अधिकारी निदेशक पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग वन्दना वर्मा द्वारा शनिवार को महिला सशक्तीकरण के प्रति लोगों को जागरूक करने हेतु ग्राम रूपपुर कमालू में स्थित नन्दघर में पहुंचकर मिशन के अन्तर्गत निकाली गई रैली का अवलोकन किया गया। इस दौरान महिलाओं, किशोरियों को सम्बोधित करते हुये उनके अधिकारों के प्रति जागरूक किया गया। सभी महिलाओं को स्वस्थता एवं खान पान पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिये गये तथा महिलाओं को टोल फ्री नम्बरों के बारे में भी अवगत कराया गया। इसके उपरान्त नोडल अधिकारी द्वारा ग्राम कंजा हर्रईया में स्वयं सहायता समूहों की महिलाओं को जागरूक किया गया। उन्होंने कहा कि समूहों में और अधिक महिलाओं को जोडकर आत्मनिर्भर बनाये तथा सभी महिलाओं को महिला हेल्प लाइन व वूमेन पाॅवर नम्बर को नोट कराते हुये कहा कि यदि आपातकालीन स्थिति में आप तत्काल फोन कर सहायता प्राप्त कर सकती है। उन्होंने महिलाओं को सम्बोधित करते हुये कहा कि सरकार द्वारा आप सभी के लिए विभिन्न विभागों में अनेकों प्रकार की योजनाओं का संचालन किया जा रहा है आप लोग जागरूक बने और अधिक से अधिक योजनाओं का लाभ उठायें, किसी भी प्रकार की समस्या आने पर प्रशासन व पुलिस प्रशासन को भी अवगत करा सकती हैं।
इसके अंतर्गत महिला सशक्तिकरण पर किशोरी बालिकाओं की संवेदीकरण करने से पूर्व बालिकाओं को अपनी व्यक्तिगत समस्या चाहे वह किसी के द्वारा परेशान किए जाने से संबंधित हो , व्यक्तिगत हेल्थ एंड हाइजीन की समस्या हो अथवा किशोरावस्था के परिवर्तनों के बारे में जानने की इच्छा हो तो ऐसी बालिकाओं को अपनी बात कागज पर लिखकर उस बॉक्स में डालने हेतु कहा गया तथा उन्हें यह भी अवगत कराया गया कि उनका नाम गुप्त रखा जाएगा किसी को नहीं बताया जाएगा
जिसके उपरांत उस डिब्बे को महिला आंगनवाड़ी कार्यकत्री/सुपरवाइजर तथा महिला सीडीपीओ द्वारा खोला जायेगा खोलने के उपरांत उन बालिकाओं द्वारा जिन बिंदुओं पर जानकारी चाही गई उन बिंदुओं पर जानकारी प्रदान की जायेगी।
इस दौरान मुख्य विकास अधिकारी श्रीनिवास मिश्र, परियोजना निदेशक अनिल कुमार, जिला कार्यक्रम अधिकारी, जिला प्रोबेशन सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!