उत्कृष्ट कार्य के लिए सम्मानित किए गए एम्बुलेंसकर्मी

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)सोनभद्र । कोरोना पीड़ित होने की बात सुनते ही जब अपने भी साथ छोड़ देते तब भी एंबुलेंस कर्मी पीछे नहीं हटते हैं। बिना डरे बिना थके वो अपनी जिम्मेदारी को बखूबी निभाकर असली कोरोना योद्धा बनकर उभरे हैं। आमतौर पर तो लोगों की यही धारणा है कि वह अपनी ड्यूटी कर रहे हैं, लेकिन कोरोना जैसी भयावह बीमारी में वह कोई न कोई बहाना कर छुट्टी भी ले सकते हैं पर ऐसा नहीं किया। 108 हो या फिर 102 अथवा कोरोना संक्रमितों के लिए बनाई गई विशेष एंबुलेंस किसी भी कर्मचारी ने अपने कर्तव्यों से मुंह नहीं मोड़ा। उनके द्वारा किये गए इसी सेवा कार्य को देखते हुए जीवीके ईएमआरआई ने 102 और 108 एम्बुलेंसकर्मियों को सम्मानित करने के लिए प्रशस्ति पत्र तथा कोरोना योद्धा सम्मान चिन्ह प्रेषित किया है। आज नोडल अधिकारी डॉ0 एस0के0 वर्मा ने चयनित 9 एम्बुलेंसकर्मियों को प्रशस्ति पत्र तथा कोरोना योद्धा पहचान चिन्ह देकर सम्मानित किया।बताते चलें कि कोरोना काल के दौरान लगे लॉक डाउन में जननी शिशु सुरक्षा योजना के तहत 102 नं0 एम्बुलेंस सेवा तथा 108 नं0 इमरजेंसी एम्बुलेंस सेवा के एम्बुलेंस कर्मियों को एम्बुलेंस में सफलतापूर्वक सुरक्षित प्रसव कराने तथा कोविड-19 के क्रिटिकल केस में बेहतरीन सेवा प्रदान करने हेतु चयनित 9 कर्मचारियों को जीवीके ईएमआरआई द्वारा प्रेषित प्रशस्ति पत्र तथा कोरोना योद्धा सम्मान चिन्ह प्रदान किया गया। सम्मानित एम्बुलेंसकर्मियों में ईएमटी आशीष कुमार, अंशु कुमार निषाद, गोपाल वर्मा, विशाल सिंह, राजमणि को प्रशस्ति पत्र तथा शिव शंकर मौर्या, विजय कुमार पटेल, गया प्रसाद, संजय कुमार को कोविड-19 वारियर्स का विशिष्ट पहचान चिन्ह पहना कर सम्मानित किया गया।इस अवसर पर जीवीके ईएमआरआई के वाराणसी मंडल के रीजनल मैनेजर अमित राय, प्रोग्राम मैनेजर अभिजीत सिंह, जिला प्रभारी दिनेश यादव तथा संदीप पटेल उपस्थित रहे।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!