फीस माफी के लिए अभिभावकों का कलेक्ट्रेट पर हल्ला बोल

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

● डीएम द्वारा मुलाकात नहीं करने पर नाराज दिखे अभिभावक

● अभिभावकों ने जिलाधिकारी कार्यालय के दरवाजे पर चस्पा किया ज्ञापन

● अभिभावकों ने दी चेतावनी फीस जैसे संवेदनशील विषय का निस्तारण नहीं किया गया तो घेरे जायेंगे जनप्रतिनिधि

सोनभद्र । लॉकडाउन की अवधि की तिमाही फीस की माफी को लेकर सोशल मीडिया पर चल रहा अभियान जारी है। इसके साथ ही ऑनलाइन क्लास से छोटे बच्चों को हो रहे नुकसान को लेकर भी विरोध शुरू हो गया है। निजी स्कूलों की मनमानी के विरोध में विभिन्न संगठनों के समर्थन के साथ आज पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत अभिभवाक मंच ने कलेक्ट्रेट पर नारेबाजी करते हुए धरना प्रदर्शन किया और जिलाधिकारी को इस मामले में हस्तक्षेप करने की माँग की। हालांकि धरनारत अभिभावकों से ज्ञापन लेने के लिए जिलाधिकारी ने उपजिलाधिकारी सदर को अपने प्रतिनिधि के तौर पर भेजा लेकिन धरनारत अभिभावकों नें ज्ञापन देने से मना करते हुए जिलाधिकारी को ही ज्ञापन देने की बात कही और धरना-प्रदर्शन जारी रखा। करीब डेढ बजे के आस-पास अचानक जिलाधिकारी की गाड़ी आगे से पीछे चली गई तो नाराज अभिभावकों नें जिलाधिकारी कार्यालय के दरवाजे पर ही अपना ज्ञापन चस्पा कर अपना विरोध दर्ज कराते हुए चेतावनी दी कि यदि फीस वसूली जैसे संवेदनशील मामले में हम अभिभावकों को राहत नहीं दिया गया तो जनप्रतिनिधियों का घेराव किया जायेगा।
धरना प्रदर्शन के समर्थन में पहुंचे सोनभद्र बार एसोसिएशन अध्यक्ष सुरेंद्र पाण्डेय ने जिलाधिकारी के रवैये पर आपत्ति जताई और कहा कि अभिभावकों के हित के लिए कानून लड़ाई भी लड़ी जायेगी ।

धरना-प्रदर्शन में शामिल पूर्वांचल नव निर्माण मंच के अध्यक्ष श्रीकांत त्रिपाठी तथा पूर्वांचल छात्र संघ परिवार के अध्यक्ष अनिकेत श्रीवास्तव ने कहा कि “मनमानी फीस वसूली से अभिभावकों में सरकार के प्रति नाराजगी बढ़ती जा रही है। जिसका दुष्परिणाम अभिभावकों का धरना-प्रदर्शन है।”

जनसत्ता दल लोकतांत्रिक के जिलाध्यक्ष ने सदर उपजिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपते हुए कहा कि “स्कूलों द्वारा की जा रही मनमानी फीस वसूली पर रोक लगाया जाए या इसको कम किया जाए, जिससे अभिभावकों में व्याप्त असंतोष कम हो सके और वह आसानी से अपने बच्चों की शिक्षा को जारी रख सकें।”

वहीं एनएसयूआई के धीरज पाण्डेय, विवेक सिंह पटेल, अविनेश तथा राजदीप, कांग्रेस के अनुपम तिवारी, समाजवादी पार्टी के राजकिशोर सिंह अपने-अपने समर्थकों के साथ धरना-प्रदर्शन में शामिल होकर फीस वसूली को नाजायज वसूली बताते हुए बंद कराने की मांग की। केसरिया हिंदू वाहिनी के धीरज मिश्रा, सौरभ कुमार, शिवसेना के सत्यम पाण्डेय , आनंद, संतोष तथा भारतीय सामाजिक न्याय मोर्चा के अध्यक्ष ओमप्रकाश तथा सोनभद्र टैक्स बार एसोसिएशन के अधिवक्ता उमापति पाण्डेय तथा किसान संघ के चन्द्र भूषण अपने समर्थक अभिभावकों के साथ धरना-प्रदर्शन में शामिल हुए। सभी संगठन तथा दल के लोगों नें कहा हम किसी दल तथा संगठन के बाद में हैं सभी पहले अभिभावक हैं।

अभिभावक मंच के संरक्षक राम सकल चौबे तथा राजीव पाण्डेय नें धरना-प्रदर्शन में आये सभी साथियों को धन्यवाद देते हुए कहा कि यह लड़ाई आगे भी जारी रहेगी ।

अभिभावक मंच गिरीश पाण्डेय ने प्रदेश सरकार पर आरोप लगाया कि हम अभिभावकों को याचक समझने की भूल कर रही है योगी सरकार, जबकी फीस माफ किया जाना हमारा अधिकार है। जिसके लिए जरुरत पड़ी तो मुख्यमंत्री का भी विरोध हम अभिभावक करेंगे।

इस दौरान छात्र नेता अभिषेक चौबे, सर्राफा एसोसिएशन के मिठाई लाल सोनी व समाजसेवी सुशील पाठक, अभिभावक राजेश सिंह, नन्हें चौबे, मुन्ना, अनिल सिंह, तपन तिवारी, अजय, अमित पटेल, करन, सौरभ, रितेश, मूरली, संजीव, ऋषि पाठक, आदित्य, आर्यन देव, चंदन, राहुल मनोज, नादीस हसन, अंकित, पुनीत सिंह, आर0के0यादव, जमालुद्दीन खान, सोनेंद्र रघुवंशी, अनुराग सिंह, सचिन शुक्ला, चंदन पांडेय, सुमित सिंह, शाहील, सूरज विश्वकर्मा , शिव नारायण सिंह, नीरज, कृष्ण यादव, अभिषेक सिंह, संत लाल, विकास केशरी, अभय पटेल, विरेन्द्र प्रताप, आनंद सागर, मोहित सहित सैकड़ों की संख्या में अभिभवाकगण उपस्थित रहते हुए अपना विरोध दर्ज कराया।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!