डीएम ने “हाथ धोना-रोके कोरोना” अभियान के बारे में किया आदिवासियों को जागरूक

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । आज जिलाधिकारी एस0 राजलिंगम, मुख्य विकास अधिकारी डॉ0 अमित पाल शर्मा ने आदिवासी घसिया बस्ती रौंप पहुंचकर “ग्लोबल हैण्डवॉशिंग डे” के मौके पर प्रदेश सरकार द्वारा “हाथ धोना-रोके कोरोना” अभियान के तहत कोरोना संक्रमण से बचाव सम्बन्ध जन-जागरूकता की आदिवासी समाज के लोगों को विस्तार से जानकारी दी। जिलाधिकरी व मुख्य विकास अधिकारी ने नोवेल कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए फेसकवर/मास्क, सामाजिक दूरी व बार-बार साबुन-पानी से हाथ धोने की अपील की और हाथ धोने के तरीकों को बताया। वरिष्ठ अधिकारियों ने स्वयं साबुन-पानी से हाथ धोते हुए साफ-सफाई के फायदों के बारे मेंं बताया।

जिलाधिकारी व मुख्य विकास अधिकारी ने “ग्लोबल हैण्डवॉशिंग डे” के मौके पर प्रदेश सरकार द्वारा “हाथ धोना-रोके कोरोना” अभियान को सफल बनाने की अपील करते हुए कहा कि कोरोना से बचाव के लिए बार-बार साबुन-पानी से हाथ को धोयें। सामाजिक दूरी बनाये रखें और मास्क लगायें। उन्होंने इस मौके पर आदिवासी समाज के पुरूष व महिलाओं में हैण्डवास के लिए साबुन और संक्रमण से बचाव के लिए मास्क का भी वितरण किया। इस मौके पर उन्होंने आदिवासी समाज को मिल रही सरकारी सुविधाओं के बारे में जाना और कहा कि सभी अनुमन्य सुविधाएं समयबद्ध तरीके से उपलब्ध करायी जा रही हैं, जरूरत है अपने अधिकारों के प्रति आदिवासी समाज को जागरूक होने की। उन्होंने साफ-सफाई के साथ ही बच्चों के पढ़ायी पर जोर देते हुए कहा कि हर हाल में घसिया बस्ती के लोग अपने बच्चें व बच्चियों को जरूर पढ़ायें। उन्होंने कहा कि आदिवासी समाज के लोगों को स्थानीय रोजगार के लिए मनरेगा योजना के तहत काम दिया जाय।

इस मौके पर जिलाधिकारी एस0 राजलिंगम व मुख्य विकास अधिकारी डॉ0 अमित पालशर्मा के अलावा उप जिलाधिकारी सदर डॉ0 कृपाशंकर पाण्डेय, जिला पंचायत राज अधिकारी विशाल सिंह, डीपीसी किरन सिंह, अजय सिंह सहित आदिवासी समाज के नागरिगण मौजूद रहे।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!