उत्तर प्रदेश बना महिलाओं की कब्रगाह : अजय राय

विनोद कुमार (संवाददाता)

– गोंडा में दलित लड़कियों पर तेजाब फेंकने की घटना दर्दनाक

शहाबगंज। उत्तर प्रदेश अब महिलाओं के लिए कब्रगाह बनता जा रहा है उक्त बातें आईपीएफ के प्रवक्ता अजय राय ने मंगलवार को पत्र प्रतिनिधियों के साथ कहीं, उन्होंने कहा है कि उत्तर प्रदेश में हाथरस बलात्कार एवं हत्या का मामला अभी चल ही रहा है कि कल रात गोंडा में तीन दलित लड़कियों जिनमें दो नाबालिग हैं, पर तेजाब फेंक दिया गया जोकि बहुत दर्दनाक है। उत्तर प्रदेश में महिलाओं पर निरंतर हो रही हिंसा ने भाजपा के बेटी बचाओ- बेटी पढाओ के नारे को खोखला साबित कर रही है। इसी प्रकार महाराजगंज की एक महिला ने स्थानीय पुलिस द्वारा उसकी शिकायत नही सुने जाने से दुखी हो कर आज लखनऊ में विधान सभा भवन के सामने आग लगा ली जिससे वह बुरी तरह से जख्मी हो गयी है और उसका इलाज चल रहा है।
उत्तर प्रदेश में महिलाओं पर हिंसा के बढ़ते अपराध का मुख्य कारण हिंसा करने वालों के विरुद्ध कार्रवाही करने के बजाये,उनके साथ खड़ी दिखाई देती है । जिसका हाथरस, शाहजहाँपुर का स्वामीचिन्मयानन्द तथा उन्नाव का सेंगर बलात्कार मामला जवलंत उदाहरण हैं।
आइपीऍफ़ उत्तर प्रदेश सरकार से प्रदेश में महिलाओं पर बढ़ते अपराध को रोकने तथा दोषियों के विरुद्ध कानून के अंतर्गत सख्त कार्रवाही करने की अपेक्षा करता है ताकि प्रदेश में महिलाएं सुरक्षित रह सकें। वहीं उन्होंने कहा कि अखिल भारतीय किसान मजदूर संघर्ष समन्वय समिति के आह्वान पर 14 अक्टूबर को न्यूनतम समर्थन मूल्य दिवस किसान संगठन मना रहें हैं। मजदूर किसान मंच भी समर्थन करता हैं।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!