खंड शिक्षाधिकारी के कार्यवाही से म्योरपुर क्षेत्र में हड़कम्प, स्कूल से गायब अध्यापकों पर गिर रही गाज

जनपद न्यूज ब्यूरो

सोनभद्र । शिक्षा क्षेत्र म्योरपुर में अक्सर अध्यापक स्कूलों से गायब रहते हैं यह कोई नई बात नहीं । कई बार शिकायत हुई, ग्रामीणों ने मामला उठाया, इसके अलावा खबरें मीडिया में भी आई लेकिन शिक्षाधिकारियों की सुस्ती की वजह से कभी कोई बड़ी कार्यवाही नहीं हुई। जिसका नतीजा है कि आज वह समस्या अधिकारियों के गले की हड्डी बन गयी है । यही कारण है कि विद्यालयों के निरीक्षण में कई अध्यापक गायब पाए जा रहे हैं। जानकारी के मुताबिक विगत सप्ताह की बात करें तो लगभग 40 अध्यापकों के खिलाफ कार्यवाही की गई है। लेकिन फिर भी अध्यापक अपनी आदतों से बाज नहीं आ रहे हैं । बुधवार को खण्ड शिक्षाधिकारी सुरेन्द्र प्रताप सहाय ने प्राथमिक/उच्च प्राथमिक काचन, छुरछुरिया का औचक निरीक्षण किया, जहां सभी अध्यापक उपस्थित पाए गए लेकिन खरवारी टोला में अध्यापक एक अध्यापक विद्यालय से नदारत मिला ।

खण्ड शिक्षाधिकारी ने बताया कि 12 बजे दिन में खरवारी टोला विद्यालय में ताला लटकता पाया गया। नदारत पाए गए अध्यापक के खिलाफ स्पष्टिकरण जारी किया गया है। खण्ड शिक्षाधिकारी ने कहा कि वहां के ग्रामीणों ने बताया कि उक्त अध्यापक विद्यालय से हमेशा नदारत रहतें है। कभी-कभार महीने में एकाक दिन नजर आते हैं। एबीएसए ने कहा कि विद्यालयों का निरीक्षण जारी रहेगा और जो भी अध्यापक अनुपस्थित पाया जाएगा कार्यवाही की जाएगी ।

वहीं नाम न छापाने की शर्त पर कई अध्यापकों ने बताया कि विद्यालय से हमेशा गायब रहने वाले कुछ अध्यापक यूनियन जॉइन कर निजी स्वार्थ में शिक्षा व्यवस्था को खराब कर रहे हैं।

बहरहाल शिक्षाधिकारी के औचक निरीक्षण से अध्यापकों में हड़कम्प मचा हुआ है । लेकिन सवाल यह उठता है कि यदि आज अधिकारी परेशान हैं और व्यवस्था को पटरी पर लाना चाहते हैं तो इसके लिए वे खुद जिम्मेदार भी हैं।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!