कई गांवों को जोड़ने वाला संपर्क मार्ग बदहाल

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

● दर्जनों गांवों को जोड़ने वाला सम्पर्क मार्ग गड्ढों में तब्दील

● दो वर्ष पूर्व कार्यदायी संस्था द्वारा सड़क निर्माण के लिए गिट्टी डलवा कर काम रोका

● ग्रामीणों के प्रदर्शन के बाद भी नहीं चेत रहा जिला प्रशासन

● क्या बड़ी दुर्घटना के इंतजार में है प्रशासन

● जनप्रतिनिधियों भी सड़क निर्माण के प्रति नहीं दिखा रहे रुचि

सोनभद्र । सदर विकास खण्ड अंतर्गत गोरारी गाँव की मुख्य सड़क पूरी तरह से क्षतिग्रस्त होने के कारण अपनी दुर्दशा पर आंसू बहा रही है मगर कोई सुध नहीं ले रहा है।

जगह-जगह गड्ढों में तब्दील हो चुका दर्जनों गांवों का यह संपर्क मार्ग जरा सी बारिश के बाद कदम कदम पर तालाबों जैसी शक्ल में बदल जाता हैं। यह संपर्क मार्ग मिशन अस्पताल से जल निगम पानी टंकी होते हुए अमोली, बसौली, बहुआर, बढ़ना, तिलौली, बघुवारी, निराज, रघुनाथपुर समेत दर्जन भर गाँवों को जिला मुख्यालय से जोड़ता है लेकिन इस रास्ते पर पैदल चलना तो दूर रिक्शा, मोटरसाइकिल अथवा किसी अन्य वाहन पर भी चलना मुश्किल हो गया है। अक्सर राहगीर गड्ढों में गिरकर घायल हो जाते हैं। वहीं आज एक ट्रक इस रास्ते में बने गड्ढों में फँस गया जिससे आने-जाने वालों को मुसीबत का सामना करना पड़ा।

बताते चलें कि दर्जनों गांवों को जोड़ने वाला यह संपर्क मार्ग दो वर्ष पहले कार्यदायी संस्था द्वारा पक्की सड़क बनाने का कार्य कराया जा रहा था। जिससे चलते पूर्व में सड़क पर बिछाए गए ईंट के खड़ंजा को भी उखाड़ दिया गया और सड़क पर सोलन बिछाकर काम आधा-अधूरा छोड़ दिया गया। जिससे क्षुब्ध होकर लोगों ने पक्के सड़क निर्माण के लिए पिछले वर्ष भी कई बार प्रदर्शन किया था और सड़क बनवाने की मांग की थी लेकिन जिला प्रशासन और जनप्रतिनिधियों के ऊपर आम जनता के प्रदर्शन का कोई असर नहीं पड़ा। जिससे अब राहगीरों को आए दिन परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। यदि जल्द से जल्द सड़क का निर्माण नहीं कराया गया तो किसी दिन इन गड्ढों वाली सड़कों में बड़ी दुर्घटना होने से इंकार नहीं किया जा सकता।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!