लिफ्ट कर्मनाशा नहर के कंमाड एरिया में पानी किसानों के खेतों में पहुंचे इसकी गारंटी करें सिचाई विभाग व जिला प्रशासन

विनोद कुमार (संवाददाता)

शहाबगंज। किसानों की समस्या को हल करने में जो सरकार निकम्मी हैं वह सरकार बदलनी हैं और जो जनप्रतिनिधियों की आवाज किसानों के सवाल पर न उठे वह जनप्रतिनिधि निकम्मा हैं इसकी गुंज किसानों की तरफ से लिफ्ट कर्मनाशा नहर के कमांड एरिया के साथ-साथ कई जगह से किसानों की तरफ से उठ रहीं हैं! वही जनकपुर माइनर से किसानों के खेतों की सिचाई में पानी नहीं पहुचने पर सताइस गाँव के किसानों की आवाज उठ रहीं हो वह साबित करने के लिए काफी हैं कि भाजपा राज में किसानों की समस्या की अनदेखी हो रहीं हैं!मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर चन्दौली के किसानों की समस्या उठाते हुए मजदूर किसान मंच के प्रभारी अजय राय ने कहा कि जब बंधें में पानी भरा हो तो किसान के खेतों में धान की फसलों को पानी के अभाव में सुख रहीं हैं और उनको पानी के लिए सड़क पर उतरना पड़े और सिचाई विभाग किसानों की समस्या के उदासीन रहे तो साबित हैं कि आप की सरकार किसानों की समस्या की अनदेखी कर रहीं हैं! केराडीह – जलालपुर चक माइनर, जनकपुर माइनर माइनर सुखी हैं, और अधिकारियों के द्वारा तर्क दिया जाए कि हम नहर को तेज इसलिए नही चला रहें कि नहरों में झाल- झखांड़ हैं और पानी टेल तक पहुँच पाने में दिक्कत हैं और नहरों को तेज चलाने पर नहर टूटने की खतरा हैं तो सिचाई विभाग को नहरों माइनर की सफाई समय से कराने के लिए सरकार ने सिचाई विभाग को आदेश व धन मुहैया क्यों नहीं कराया था और जो नहर माइनर साफ भी हुए तो जनप्रतिनिधियों ने काम सही हुआ हैं इसमें कमीशन तो नहीं खाएं हैं? क्योंकि चर्चा था कि सिचाई विभाग के द्वारा जो जनपद में नहरों माइनरो की सफाई हुयी और संतोष जनक काम हुआ हैं उसकी रिपोर्ट लगाने के नाम पर सिचाई विभाग के ठेकेदारो से दस प्रतिशत कमीशन जनप्रतिनिधियों ने लिया नतीजा उसकी यह हुयी हैं कि नहर -माइनर साफ़ नहीं हुआ और जनप्रतिनिधियों को कमीशन पहुंच गया।मजदूर किसान मंच के प्रभारी ने किसानों की पानी की समस्या , जगह जगह सड़क पर खाद की समस्या पर सड़कों पर उतरने पर खास कर सत्ता धारी जनप्रतिनिधियों के मौन धारण करने पर वह किसानों के प्रति कितने संवेदनशील हैं साबित करता हैं!सिचाई विभाग को किसानों के खेतों में पानी पहुंचाने की गारंटी करनी चाहिए और किसानों के खेतों में पानी न पहुंचे तो सरकार या विपक्ष के जनप्रतिनिधियों को भी किसानों के खेतों में पानी पहुंचे इसके लिए आगे आना चाहिए! कांटा विशुनपुरा के किसानों की पानी के लिए चल रहें आंदोलन का मजदूर किसान मंच की तरफ से समर्थन करते हुए उन्होंने कहा कि लेफ्ट कर्मनाशा नहर के कंमाडो एरिया के अंतिम छोर तक , केराडीह -जलालपुर माइनर चक माइनर, जनकपुर माइनर में पानी पहुंचाने सहित चन्दौली जनपद के किसानों के खेतों में पानी पहुंचे इसकी गारंटी सिचाई विभाग व जिला प्रशासन करे।अभी किसानों की खेतों में पानी पहुंचाने का समय हैं सभी सिचाई विभाग के अधिकारी अपने अपने क्षेत्रों में कैम्प करें सभी नहरों माइनर की पेट्रोलिंग करें और किसानों की समस्या का हल किया जाए।मजदूर किसान मंच ने किसान विकास मंच सहित सभी किसान संगठन से अपील किया कि सभी लोग किसानों की पानी की समस्या सहित, खाद की सहकारी समितियों पर किल्लत से लेकर अभी हाल में मोदी सरकार द्वारा लाए गये तीन किसान विरोधी अध्यादेश का विरोध करें और पुरे देश में किसानों के सबाल पर लड़ रहे किसानों पर जगह जगह लाठी चार्ज की निंदा किया जाए।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!