जिला अधिकारी फसे जाम में,पुलिस के छूटे पसीने

फ़ैयाज़ खान मिस्बाही(ब्यूरो)

ग़ाज़ीपुर। वाराणसी हाईवे पर सैदपुर क्रासिंग का जाम जनता और अधिकारियों के लिए मुसीबत से कम नहीं। रूट पर गुजरने वाला अगर सैदपुर जाम में नहीं फसा तो समझिए कई घंटा समय बच गया।ज्वाइनिंग के बाद वाराणसी के लिए निकले नवागत जिलाधिकारी एमपी सिंह ने पहले दिन ही सैदपुर में जाम का झाम देखा। डीएम फंसे तो पुलिस के पसीने छूट गए और जाम खुलवाने के लिए कसरत शुरू हो गई। कोतवाल से लेकर दरोगा और सिपाहियों की मेहनत के बाद भी लगभग आधे घंटे जाम में डीएम के काफिले को जूझना पड़ा। जिलाधिकारी के वाहन को जाम से निकालने के लिए सड़क पर उतरे पुलिसकर्मियों ने डीएम के जाने पर राहत की सांस ली।सैदपुर में जाम तो आम बात है मगर आज सुबह 10 बजे जाम खुलवाना पुलिस के लिए खास बात थी । जाम में भी जिले के डीएम एमपी सिंह और सीडीओ श्रीप्रकाश गुप्ता जो फंसे थे। सुबह लगभग साढ़े नौ बजे नगर स्थित रेलवे क्रॉसिंग पर फाटक बंद करके, एक साथ दो ट्रेनों को पास कराया गया। इस दौरान नगर स्थित राजमार्ग पर गंगा पुल के अप्रोच मार्ग से लेकर भीतरी मोड़ तक, लगभग 2 किलोमीटर लंबा वाहनों का जाम लग गया। तभी कुछ देर बाद सीडीओ के साथ जिलाधिकारी के वाराणसी जाने की सूचना मिली। जिसके बाद आनन-फानन में राजमार्ग पर उप जिलाधिकारी अनिरुद्ध प्रताप सिंह, कोतवाल रविंद्र भूषण मौर्य के साथ भारी संख्या में पुलिस बल ने मशक्कत शुरू कर दी। लंबे जाम को खाली कराने में पुलिस का पसीना छूट गया। लिंक मार्गो को बंद कर, किसी प्रकार जाम में फंसे जिलाधिकारी के वाहन को निकाला गया।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!