सोन नदी में बच्चों के डूबने का मामला : एक दूसरे को बचाने में डूब गए चारों दोस्त, अब तक तीन शव बरामद

घनश्याम पांडेय/विनीत शर्मा (संवाददाता)

० मध्य प्रदेश के लमसरई गांव के रहने वाले थे सभी किशोर

० कोचिंग पढ़ने के बाद पहुंचे थे नदी में नहाने

जुगैल/चोपन। स्थानीय जुगैल थाना क्षेत्र अंतर्गत कुड़ारी गांव में शनिवार की दोपहर उस समय हड़कंप मच गया। जब सोन नदी में नहाने गए चार किशोर डूब गए। उनके साथ नहाने गए अन्य किशोरों ने भाग कर लोगों को इसकी जानकारी दि थी। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस व ग्रामीणों ने डूबे हुए किशोरों की तलाश शुरू कर दिया था काफी देर तलास करने पर जब किशोर नही मिले तो जिला प्रशासन द्वारा नगर पंचायत चोपन को सूचित कर चोपन से गोताखोर बुलाये गए थे चोपन से आये गोताखोरों ने काफी खोजबीन करने के बाद एक शव को शनिवार को ही खोज निकाला था और अन्य तीन शवो में से दो शव रविवार को ग्रामीणों की मदद से खोजी गई थी।

जानकारी के अनुसार मध्य प्रदेश के लमसरई गांव निवासी 16 वर्षीय अमित पुत्र राजेश, 14 वर्षीय आनंद पुत्र लाल पति, 14 वर्षीय रोहित पुत्र लाल बहादुर व 16 वर्षीय राहुल पुत्र कुंजीलाल अपने कुछ दोस्तों के साथ कोचिंग पढ़ने के पश्चात शनिवार को सुबह नौ बजे कुड़ारी गांव स्थित सोन नदी में नहाने गए थे नदी घाट पर पहुँच सभी बच्चे अपने अपने बैग व कपड़े उतारकर नहाने लगे। इसी दौरान एक किशोर नदी के गहरे पानी में डूबने लगा था, तभी दूसरे दोस्त ने साथी को डूबता देख उसको बचाने के लिए आगे बढ़ा तो वह भी डूबने लगा। इसी तरह एक दूसरे को बचाने के चक्कर में चारो किशोर नदी की बलखाती धारा मे समा गये थे। यह वाकया देख बाकी के तीन किशोर घबरा गये और शोर मचाते हुए गांव की ओर भागे, जैसे ही इस दर्दनाक घटना की जानकारी गांव वालों को हुई तो परिजनों के साथ साथ भारी संख्या में लोग नदी घाट पर पहुँच किशोरों की तलाश में जुट गये थे। ग्रामीणों और चोपन के गोताखोरों के सहयोग से एक शव तो शनिवार को ही बरामद हो गया था परंतु तीन और शव नही बरामद हो पाए थे जिसके लिए जिला प्रशासन ने एन डी आर एफ की टीम बुलवाया था ।

एन डी आर एफ की टीम शनिवार शाम से रविवार तक पूरे नदी में शवो की तलाश की लेकिन एन डी आर एफ की टीम असफल रही एन डी आर एफ के साथ साथ ग्रामीण भी मानवता के नाते बच्चों के शवों को खोजने में लगे थे रविवार को मिले दो बच्चों के शवों को स्थानीय ग्रामीणों ने ही खोज निकाला था। समाचार लिखे जाने तक चौथे बच्चे का शव नही मिला था मौके पर एम पी की पुलिस,जुगैल थाने की पुलिस व घोरावल एस डी एम जैनेन्द्र सिंह एन डी आर एफ टीम के साथ मौजूद थे।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!